राजस्थान-गुजरात बॉर्डर पर खेत में प्लास्टिक के कट्टों में छिपाई 40 लाख की अवैध शराब जब्त

राजस्थान-गुजरात बॉर्डर पर खेत में प्लास्टिक के कट्टों में छिपाई 40 लाख की अवैध शराब जब्त
राजस्थान-गुजरात बॉर्डर पर खेत में प्लास्टिक के कट्टों में छिपाई 40 लाख की अवैध शराब जब्त


सिरोही, 1 अप्रैल (हि.स.)। रेवदर (सिरोही) के मंडार थाना क्षेत्र में राजस्थान-गुजरात बॉर्डर के पास एक खेत में जमीन के नीचे 40 लाख रुपये की अवैध शराब मिली है। जो गुजरात में चोरी-छिपे सप्लाई की जानी थी। पुलिस ने 12 घंटे तक लगातार जेसीबी से खुदाई कर 288 प्लास्टिक के कट्टों में 576 कार्टन शराब को बाहर निकाल कर जब्त किया है। इस दौरान पुलिसकर्मियों को भी फावड़े चलाने पड़े। चुनावों के चलते कड़ी नाकाबंदी के कारण एक महीने पहले तस्कर ने जमीन में पांच फीट नीचे दबाकर ऊपर फसल लगा दी थी, ताकि किसी को शक नहीं हो।

मंडार एसएचओ रविंद्र पाल सिंह ने बताया कि जालमपुरा गांव में एक खेत में जमीन के नीचे अवैध शराब का बड़ा स्टॉक छिपाने की सूचना मिली थी। सूचना पर दोपहर को जालमपुरा गांव में शैतान सिंह के खेत पर पहुंचकर तलाश शुरू की। खेत में खुदाई शुरू की जो रात तक चली। इस दौरान खुदाई में जमीन में करीब पांच फीट नीचे अवैध शराब का स्टॉक मिला। 288 प्लास्टिक के कट्टों में 576 कार्टन शराब को निकालकर जब्त किया गया है। वहीं खेत मालिक तस्कर शैतान सिंह को हिरासत में लिया गया। साथ ही मौके एक ट्रैक्टर-ट्रॉली जब्त की गई है। जिस ट्रक से ये शराब डिलीवरी हुई थी, उसे जालोर जिले की जसवंतपुरा पुलिस ने करीब 20-25 दिन पहले जब्त किया था। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

खेत में तस्कर शैतान सिंह का मकान बना हुआ है, जिसके पास करीब 15 बीघा जमीन है। पुलिस मौके पर पहुंची तो 60 गुणा 30 की जगह अलग ही थोड़ी उजड़ी हुई सी दिखाई दे रही थी। इस पर पुलिस का संदेह यकीन में बदल गया। पहले शुरुआत में दो-तीन जगह जमीन में गड्ढे करके सरिये घुसाये, लेकिन शराब के दबे होने की पुष्टि नहीं हो पाई। कार्रवाई के दौरान तस्कर मौके पर ही मौजूद था। इस पर पुलिस ने आरोपित को दबाव में लेकर पूछताछ की तो उसने जमीन के नीचे शराब दबी होने की बात को स्वीकार किया और जगह भी बता दी। दो घंटे की मशक्कत के बाद जमीन को खोदकर देखा तो नीचे शराब दबी होने की पुष्टि हुई। इस पर तस्कर ने पुलिस को चकमा देकर मौके से भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने वहीं पर दबोच लिया।

शराब जमीन के नीचे करीब पांच फीट की गहराई में दबी हुई थी। इस पर पुलिस को खुदाई के लिए जेसीबी मौके पर बुलानी पड़ी। जेसीबी से खुदाई रविवार रात तक चलती रही। इस दौरान पुलिसकर्मियों को भी फावड़े चलाकर मिट्टी को हटाना पड़ा। पुलिस ने बताया कि आरोपित शैतान सिंह व पृथ्वी सिंह दो भाई है। शैतान सिंह कुछ महीनों पहले ही गुजरात के पाथावाडा में अवैध शराब परिवहन के केस में जेल काट कर आया है। मुख्य तस्कर आरोपित का भाई पृथ्वी सिंह अभी फरार है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है।

जानकारी के अनुसार जालमपुरा गांव गुजरात की सीमा से करीब 16 किलोमीटर है। जहां से लोकल रोड से होते हुए गुजरात में शराब की सप्लाई करना आसान होता है। लेकिन लोकसभा चुनावों को लेकर पिछले एक महीने से पुलिस और प्रशासन अलर्ट है। ऐसे में बॉर्डर एरिया समेत पूरे जिले में गश्त और नाकाबंदी बढ़ा दी गई। तस्कर ने एक महीने पहले खेत में जमीन के नीचे शराब दबाई थी, लेकिन नाकाबंदी और गश्त के कारण शराब को नहीं निकाल पाया।

हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story