महिला वार रूम कांग्रेस की कुत्सित सोच का सकारात्मक जवाबः डॉ. मोहन यादव

महिला वार रूम कांग्रेस की कुत्सित सोच का सकारात्मक जवाबः डॉ. मोहन यादव
महिला वार रूम कांग्रेस की कुत्सित सोच का सकारात्मक जवाबः डॉ. मोहन यादव


महिला वार रूम कांग्रेस की कुत्सित सोच का सकारात्मक जवाबः डॉ. मोहन यादव


भोपाल, 13 मई (हि.स.)। भाजपा के प्रदेश कार्यालय में सोमवार को मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव एवं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने लोकसभा चुनाव प्रदेश प्रभारी डॉ. महेन्द्र सिंह, लोकसभा सह प्रभारी सतीश उपाध्याय, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद के साथ लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के लिए बनाये गये वॉर रूम में लोकसभा की 8 सीटों पर हो रहे मतदान को लेकर विभिन्न टोलियों के सदस्यगणों से जानकारी लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए और महिला वॉर रूम का अवलोकन किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि महिला जनप्रतिनिधि, स्वयं सहायता समूह, नारी वंदन समूह, अलग-अलग प्रकार की बहनों से काम की गति बढ़ाने एवं उनको चुनाव निर्वाचन से जोड़ने की यह पहल वास्तव में अभिनव है। मैं तो यह सब देखकर आश्चर्यचकित हूं कि अगर हम इतना कुछ करेंगे, तो कांग्रेस बचेगी कहां। महिलाओं की दृष्टि से तो इसका महत्व और भी ज्यादा है।

उन्होंने कहा कि भाजपा का महिला वार रूम नारी शक्ति वंदन को चरितार्थ कर रहा है। कांग्रेस के लोग बहनों के प्रति जैसी मानसिकता रखते हैं, जिस तरह से उन्हें अपमानित करते हैं, यह सकारात्मक दृष्टिकोण से उसका जवाब है।

मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि महिला रूम की इस अभिनव पहल के लिए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष शर्मा, लोकसभा चुनाव प्रभारी महेंद्र सिंह, सह प्रभारी सतीश उपाध्याय, संगठन महामंत्री हितानंद और सभी पार्टी जनों को बधाई देता हूं। महिलाओं के लिए वार रूम बनाकर इनके माध्यम से चुनावी प्रक्रिया में प्रभावी लोगों तक अपनी बात पहुंचाना एक अलग और देश में पहला अनुभव है। कांग्रेस के लोग तो इस तरह की पहल की कल्पना भी नहीं कर सकते। वह केवल निर्वाचन की बात कर सकते हैं लेकिन निर्वाचन के पीछे जो ताकत लगनी चाहिए, जो भाव होना चाहिए, जो पवित्रता होनी चाहिए इसका सर्वथा अभाव रहता है। यह वास्तव में सीखने लायक है।

हर स्तर पर महिला सशक्तीकरण भाजपा का प्रयास

उन्होंने कहा कि महिला वार रूम के रूप में हमें एक सीखने लायक सकारात्मक विषय मिला है। आने वाले समय में सरकार की अच्छी योजनाओं को लागू करने में भी इस वार रूम का लाभ ले सकते हैं। हर योजना के हितग्राहियों में आधी संख्या तो महिलाओं की होती ही है। उन्होंने कहा कि आज मैं जिस पोलिंग बूथ पर गया था, वह 100 प्रतिशत महिलाओं द्वारा संचालित था, सारी व्यवस्थाएं महिलाएं ही संभाल रही थीं।

डॉ. यादव ने कहा कि यह भाजपा ही है जिसने राज्य में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत और प्रधानमंत्री मोदी ने 2029 के चुनाव में 33 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की है। महिलाओं की नेतृत्व कुशलता और क्षमता से आने वाला भविष्य बहुत अच्छा रहेगा। हमने जनजातीय क्षेत्र की झाबुआ, धार दोनों सीटों से महिला प्रत्याशियों को टिकट दी हैं, जबकि अन्य दल जनजातीय क्षेत्र के लिए ऐसा सोच भी नहीं सकते। वो नहीं चाहते कि जनजातीय क्षेत्रों में महिला नेतृत्व उभरे।

वार रूम के माध्यम से बढ़ा महिलाओं का मतदान प्रतिशतः शर्मा

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि पार्टी ने मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए प्रदेश कार्यालय में विशेष प्रयोग करते हुए महिला वॉर रूम बनाया है। इस वार रूम में कार्यरत महिला प्रबंधन टीम ने प्रदेश के 8 लोकसभा सीटों पर हुए मतदान में विभिन्न समूह की महिलाओं से संपर्क कर मतदान में ज्यादा से ज्यादा महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने का काम किया है। महिला मतदाता लोकतंत्र को सफल और सुदृढ़ बनाने में अहम भूमिका निभा रही हैं। महिला वार रूम के माध्यम से महिलाओं के वोट प्रतिशत में वृद्धि हुई है। इस वार रूम के माध्यम से महिला जनप्रतिनिधि से लेकर मंडल अध्यक्ष तक प्रमुख कार्यकर्ताओं ने कोऑर्डिनेट किया है, जो सराहनीय है। इसके लिए मैं मातृशक्ति को बधाई और धन्यवाद देता हूं।

इस दौरान चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक हेमंत खण्डेलवाल, पार्टी के प्रदेश महामंत्री व विधायक भगवानदास सबनानी, रणवीर सिंह रावत, प्रदेश मंत्री लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश मीडिया प्रभारी आशीष उषा अग्रवाल, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष व सांसद माया नारोलिया एवं चुनाव प्रबंधन विभाग के प्रदेश संयोजक प्रदीप त्रिपाठी सहित विभिन्न टोलियों के सदस्यगण उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story