रीवाः 'टायलेट एक प्रेम कथा' देख मायके चली गई पत्नी, कहा- शौचालय बनने पर लौटेगी

रीवाः 'टायलेट एक प्रेम कथा' देख मायके चली गई पत्नी, कहा- शौचालय बनने पर लौटेगी


रीवा, 10 जून (हि.स.)। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में एक अनोखा मामला सामने आया है। अभिनेता अक्षय कुमार की करीब सात साल पहले आई फिल्म 'टॉयलेट एक प्रेमकथा' की तर्ज पर ससुराल में शौचालय नहीं होने से नाराज एक महिला अपने पति का घर छोड़कर मायके चली गई है। महिला ने मोबाइल पर 'टॉयलेट एक प्रेमकथा' फिल्म देखी। उसके बाद घर छोड़ने का फैसला लिया। पति अब पुलिस के पास पहुंचा है। उसने पत्नी को वापस अपने घर बुलवाने की गुहार लगाई है।

फिल्म 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' में नायिका ने टॉयलेट नहीं होने से नाराज होकर पति का घर छोड़ दिया था। इसी तरह का मामला रीवा जिले के त्योंथर तहसील के आमव गांव में सामने आया है। यहां के प्रदीप मिश्रा और रोशनी की शादी चार साल पहले हुई थी। दो महीने पहले रोशनी घर छोड़कर मायके चली गई। कई बार बुलाने पर भी वह ससुराल आने को तैयार नहीं है। उसका कहना है कि जब तक ससुराल में शौचालय नहीं बनेगा। तब तक वह लौटकर नहीं आएगी।

प्रदीप मिश्रा पुत्र रंगू मिश्रा सोमवार को शिकायत लेकर चाकघाट थाने पहुंचा। उसने बताया कि उसकी पत्नी रोशनी मिश्रा पिछले दो माह से मायके चली गई है। कई बार बुलाने पर भी आने के लिए तैयार नहीं है। हालांकि मौके पर उपस्थित पुलिस कर्मियों ने उसे समझा बुझाकर भेज दिया है। बतौर थाना प्रभारी कम कर रहे उपनिरीक्षक संजीव शर्मा ने बताया कि इसमें पुलिस के हस्तक्षेप का मामला नहीं बनता है। युवक को समझ कर घर भेजा गया है।

पति प्रदीप मिश्रा का कहना है कि 'मैं इंदौर में 10 हजार रुपये की प्राइवेट नौकरी करता हूं। ऐसे में इतने पैसों में घर खर्च के साथ शौचालय बनवाना टेढ़ी खीर है। अक्सर पत्नी से इस बात को लेकर विवाद होता था कि घर में शौचालय नहीं है। वो घर छोड़कर जाने को बोलती थी। जिसे मैं गंभीरता से नहीं लेता था। एक दिन वो सच में चली गई।

रोशनी मिश्रा का कहना है कि शौचालय नहीं होने की वजह से शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। अगर कभी दिन में शौच के लिए जाना हो तो अंधेरा होने का इंतजार करना पड़ता है। एक दिन मोबाइल में रील देख रही थी। तभी टॉयलेट एक प्रेम कथा मूवी से जुड़ी हुई एक रील देखने को मिली। जिसके बाद पूरी मूवी देखी। मूवी बेहद पसंद आई। उसका कहना है कि मूवी देखने वाले दिन ही फैसला कर लिया कि जब तक ससुराल में शौचालय नहीं बन जाता, तब तक यहां नहीं रहूंगी। रोशनी ने बताया कि मैंने कॉलेज तक पढ़ाई पूरी की है। मैं एक हाउस वाइफ हूं, इसलिए ससुराल वालों से अपेक्षा है कि वो घर में शौचालय बनवाएंगे। मेरी शादी को चार साल हो गए हैं और मेरे दो बच्चे हैं।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story