जहां धर्म होता है, वहीं जीत होती हैः ज्योतिरादित्य सिंधिया

जहां धर्म होता है, वहीं जीत होती हैः ज्योतिरादित्य सिंधिया
जहां धर्म होता है, वहीं जीत होती हैः ज्योतिरादित्य सिंधिया


जहां धर्म होता है, वहीं जीत होती हैः ज्योतिरादित्य सिंधिया


जहां धर्म होता है, वहीं जीत होती हैः ज्योतिरादित्य सिंधिया


भोपाल, 7 जुलाई (हि.स.)। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ग्वालियर में आयोजित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के समय हमारे सामने दोहरी चुनौतियां थीं। एक विधानसभा चुनाव की और दूसरी लोकसभा चुनाव की। हमने उस समय संकल्प लिया था कि कांग्रेस को मध्यप्रदेश चौपट नहीं करने देंगे। विकसित भारत के संकल्प की पूर्ति के लिए केंद्र में तीसरी बार मोदी सरकार बनाएंगे। हमारे ये दोनों ही संकल्प पूरे हुए हैं, जिसके लिए में सभी कार्यकर्ताओं को नमन करता हूं। महाभारत में भी कहा गया है कि जहां धर्म होता है, जीत वहीं होती है। ये जीत सत्य की जीत है। ये कांग्रेस की नकारात्मकता के खिलाफ जनता की शक्ति और जांबाज कार्यकर्ताओं की जीत है।

केन्द्रीय मंत्री सिंधिया रविवार को भोपाल के रविंद्र भवन में हुई भाजपा की विस्तारित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमने संकल्प लिया था-मेरा बूथ सबसे मजबूत। इस संकल्प को सिद्धि तक पहुंचाते हुए हमने 80 प्रतिशत बूथ जीते, सभी 29 सीटों पर जीत हासिल की। सिंधिया ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं-मेरे जीवन का पल-पल और शरीर का कण-कण देशवासियों को समर्पित है। न खाऊंगा न खाने दूंगा। लेकिन कांग्रेस के नेतृत्व वाला ठगबंधन भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण की विचारधारा पर चलता है।

जनता का भरोसा जीतने में सफल रहे हमारे कार्यकर्ताः डॉ. वीरेंद्र कुमार

केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार ने कहा कि हाल ही में हुए चुनावों में मध्यप्रदेश भरोसे का प्रदेश बनकर उभरा है। हम सभी 29 लोकसभा सीटें जीतने में सफल रहे, जिसका श्रेय हमारे कार्यकर्ताओं को जाता है। कांग्रेस ने आरक्षण और संविधान को लेकर झूठ का पहाड़ खड़ा करने का प्रयास किया, जबकि सच्चाई यह है कि कांग्रेस न देश के संविधान का सम्मान करती है, न कभी संविधान निर्माता डॉ. अंबेडकर को सम्मान दिया। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के समय कांग्रेस के एक नेता ने सरकार के प्रस्ताव की कॉपी फाड़ दी थी। डॉ. अंबेडकर के खिलाफ अपना प्रत्याशी उतारकर कांग्रेस ने उन्हें संसद में निर्विरोध नहीं आने दिया, जबकि डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने उन्हें राज्यसभा में पहुंचाने में सहयोग किया।

बैठक में भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद ने संगठन की आगामी कार्ययोजना की जानकारी दी। बैठक को मुख्यमंत्री मोहन यादव, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, केन्द्रीय मंत्री शिवराज सिंह चौहान, भूपेन्द्र यादव आदि ने भी संबोधित किया। बैठक में संसदीय बोर्ड के सदस्य सत्यनारायण जटिया, प्रदेश शासन के मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रहलाद पटेल, राकेश सिंह, वरिष्ठ नेता फग्गनसिंह कुलस्ते, महाराष्ट्र के सह प्रभारी जयभान सिंह पवैया, विक्रम वर्मा, डॉ. नरोत्तम मिश्रा, भूपेन्द्र सिंह, सुरेश पचौरी, ओमप्रकाश धुर्वे उपस्थित रहे।

पिछली कार्यसमिति बैठक का अनुमोदन प्रदेश कार्यालय मंत्री डॉ. राघवेन्द्र शर्मा ने रखा। प्रदेश महामंत्री शरतेंदु तिवारी ने दिवंगत नेताओं, कार्यकर्ताओं एवं समाज जनों के निधन पर शोक प्रस्ताव रखा, जिसके उपरांत दिवंगतों की आत्मिक शांति के लिए मौन रखा गया। बैठक का आभार प्रदेश मंत्री जयदीप पटेल ने माना। लोकसभा चुनाव विश्लेषण की प्रस्तुति प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल ने दी। बैठक में पहली बार 1099 मंडल अध्यक्षों सहित 2 हजार से अधिक पार्टी पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story