राजगढ़ः गौवंश तस्करी रोकने विहिप बजरंगदल गौरक्षा विभाग ने सौंपा ज्ञापन

राजगढ़ः गौवंश तस्करी रोकने विहिप बजरंगदल गौरक्षा विभाग ने सौंपा ज्ञापन
राजगढ़ः गौवंश तस्करी रोकने विहिप बजरंगदल गौरक्षा विभाग ने सौंपा ज्ञापन


राजगढ़, 10 जून (हि.स.)। प्रदेश में गौवंश तस्करी को रोकने के संबंध में विहिप बजरंगदल गौरक्षा विभाग ने सोमवार को 19 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री डाॅ.मोहन यादव के नाम ब्यावरा एसडीएम गीतांजली शर्मा को एक ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में उल्लेखित है कि गौरक्षा संवाद पर गौ शालाओं की दानराशि बढ़ाई गई साथ ही गौरक्षा संकल्प वर्ष को मनाने का निर्णय गौवंश की रक्षा के लिए संकल्पित है, इसका विहिप गौरक्षा विभाग स्वागत करता है वहीं गौरक्षा संकल्प के लिए समर्पित सरकार की मंशा के विपरित गौवंश तस्करी तेजी से बढ़ रही है, जिसमें गौ तस्कर निडर होकर इस कृत्य को अंजाम दे रहे है। ज्ञात हो कि पिपल्यामंडी में बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने 47 ट्रक गौवंश पुलिस के सहयोग से जब्त किए।

प्रदेश में लोकल सल्लाट हाउस में गौवंश का वध किया जा रहा है साथ ही दुकानों पर खुलेआम मांस का बिक्रय किया जा रहा है। प्रदेश में गौवंश वध प्रतिषेध अनिधिनियम की अवहेलना कर तस्करी की जा रही है,जिस पर पुलिस अनदेखी कर रही है।प्रदेश में पशु मेला एवं हाट बाजार के माध्यम से तस्करी की जा रही है। ज्ञापन में विहिप बजरंगदल गौरक्षा विभाग ने मांग की है कि पशु मेला बंद किए जाए, गौवंश तस्करी पूर्णतःबंद हो, गौवंश मेला नियम विरुद्ध भर रहा हो तो समिति पर अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाए, गौवंश परिवहन पर वाहन राजसात अनिवार्य करें, जिस थानाक्षेत्र में गौ तस्करी हो उन्हें निलंबित किया जाए, एक से अधिक बार गौवंश तस्करी करते पाए जाने पर वाहन मालिक के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जाए, संजीवनी पशु एम्बूलेंस को गौवंश के लिए 150 रुपए शुल्क से मुक्त रखा जाए,खेत की मेढ़ पर लगने वाली झटका मशीन पर प्रतिबंध लगाया जाए, गौ तस्करी रोकने में बलिदान व अंगविहिन होने पर गौ भक्तों को गौसेवक सम्मान व परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जाए, गौशाला भूमि आवंटन की प्रक्रिया सरल की जाए, गौशालाओं को पांच हाॅर्सपावर का विधुत कनेक्शन मुफ्त दिया जाए, स्वयंसेवी संस्थाओं को मनरेगा से मजदूर दिए जाए, गौचर भूमि को अतिक्रमण से मुक्त किया जाए, गौशाला द्वारा निर्मित वर्मी कम्पोस्ट, कीटनियंत्रक को फर्टीलाइजर्स एक्ट से मुक्त किया जाए, गौशाला द्वारा निर्मित वर्मी कम्पोस्ट, कीटनियंत्रक को शासन खरीद कर सहकारी संस्थाओं के माध्यम से बिक्री करे, गौ उत्पाद को कर मुक्त किया जाए, पशु जांच चैकी स्थापित की जाए, गौ समाधी स्थल का चयन कर सुरक्षित किए जाए और प्रदेश में नवनिर्मित मनरेगा गौशाला को पूर्ण कर गौवंश रखा जाए ताकि बारिश में गौवंश सुरक्षित रख सके।

हिन्दुस्थान समाचार/ मनोज पाठक

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story