जबलपुर : अमर शहीद बिरसा मुंडा को किया नमन

जबलपुर, 9 जून (हि.स.) अमर शहीद बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि पर रविवार को शहर में विभिन्न संगठनों द्वारा श्रद्धांजलि दी गई। जनजाति जन कल्याण संस्था के द्वारा भी बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि पर उनको याद किया। देश की आजादी में बिरसा मुंडा के योगदान को लेकर उनके द्वारा समाज के लिए किए गए कार्यों का उल्लेख किया गया।

जनजाति जन कल्याण संस्था के सदस्य ने बताया कि शहीद बिरसा मुंडा एक भारतीय आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी और मुंडा जनजाति के लोक नायक थे। उन्होंने ब्रिटिश राज के दौरान 19वीं शताब्दी के अंत में बंगाल प्रेसीडेंसी में हुए एक आदिवासी धार्मिक सहस्राब्दी आंदोलन का नेतृत्व किया, जिससे वह भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के इतिहास में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति बन गए। भारत के आदिवासी उन्हें भगवान मानते हैं। लेकिन आदिवासी पुनरुत्थान के नायक बिरसा मुंडा,अंग्रेजों के साथ साथ अब मिशनरियों की आँखों में भी खटकने लगे थे। अंग्रेजों की लागू की गयी जमींदारी प्रथा और राजस्व-व्यवस्था के ख़िलाफ़ लड़ाई के साथ-साथ जंगल-जमीन की लड़ाई ने छेड़ दी। यह मात्र विद्रोह नहीं था। यह आदिवासी अस्मिता, स्वायतत्ता और संस्कृति को बचाने के लिए संग्राम था। पिछले सभी विद्रोह से सीखते हुए,बिरसा मुंडा ने पहले सभी आदिवासियों को संगठित कर अंग्रेजों के ख़िलाफ़ महाविद्रोह'उलगुलान'छेड़ दिया था। अधारताल स्थित बिरसा मुंडा प्रतिमा स्थल पर शहर के अनेक नेता उनको श्रद्धांजलि देने पहुंचे इसके साथ ही अनेक सामाजिक संस्थाएं संस्थाओं ने बिरसा मुंडा को याद कर उनको श्रद्धांजलि और पुष्पांजलि अर्पित की शबरी संघ की तरफ से पूर्व कांग्रेस विधायक कौशल्या गोटिया सहित अन्य पदाधिकारी व सदस्यों ने बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया ।

हिन्दुस्थान समाचार/ विलोक पाठक/नेहा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story