मप्रः सीवरेज टैंक सफाई के दौरान सफाई मित्रों की मृत्यु पर नगरीय विकास विभाग सख्त

- आयुक्त भरत यादव ने जारी किए दिशा-निर्देश

भोपाल, 12 जून (हि.स.)। रीवा में सेप्टिक टैंक की सफाई करते समय दो सफाई मित्रों की म़त्यु के मामले को नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने गंभीरता से लिया है। विभागीय मंत्री कैलाश विजयवर्गीय के निर्देश पर आयुक्त भरत यादव ने मंगलवार को रीवा नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिए कि मृतकों के परिजनों को तत्काल 30-30 लाख रुपये क्षतिपूर्ति राशि दी जाये। यादव ने सभी निकायों को सख्त हिदायत दी है कि ‘‘हाथ से मैला उठाने वाले कर्मियों के नियोजन का प्रतिषेध और उनका पुनर्वास अधिनियम-2013’’ का पालन कराया जाये।

नगरीय विकास आयुक्त भरत यादव ने कहा कि यह सुनिश्चित हो कि नगरीय क्षेत्रों में सीवर टैंक की सफाई मशीन द्वारा ही की जाये। प्रत्येक जिला स्तरीय नगरीय निकायों में गठित ईआरएसयू यह सुनिश्चित करें कि उनके अधीनस्थ प्रशिक्षित सीवर एंट्री प्रोफेशनल्स की टीम नियुक्त की गयी हैं। साथ ही सीवर एंट्री प्रोफेशनल्स के लिए सुरक्षा उपकरण भी उपलब्ध हैं। सीवर एंट्री प्रोफेशनल्स द्वारा सफाई के लिए अनुमति तब ही दी जाये जब मशीन द्वारा सफाई संभव नहीं हो। यदि किसी भी निकाय में निजी सेवा प्रदाताओं द्वारा सीवर एंट्री प्रोफेशनल्स की सेवा ली जाती है, तो उन्हें लिखित मे ईआरएसयू से अनुमति प्राप्त किया जाना और सुरक्षा उपकरण लिया जाना आवश्यक है।

आयुक्त ने निर्देश दिए हैं कि सफाई के दौरान भारत सरकार द्वारा जारी एडवायजरी के नियमों का गंभीरता से पालन किया जाये। इसी तारतम्य में स्वच्छ भारत मिशन शहरी के मिशन संचालक श्री अक्षय तेम्रवाल ने समस्त निकायों के प्रमुखों को निर्देश दिए हैं कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशानुसार सफाई मित्रों की सीवर लाइन या सीवर टैंक की सफाई के दौरान मृत्यु होने पर 30 लाख रूपये की क्षतिपूर्ति राशि दी जाये। शारीरिक दिव्यांगता होने की स्थिति में राशि में 20 लाख रूपये दिये जाएं।

गौरतलब है कि सीवर टैंक की सफाई के दौरान रविवार की शाम रीवा के बाणसागर कॉलोनी में दो सफाई मित्रों की मृत्यु हो गई थी। इस घटना के आरोपी मकान मालिक के विरूद्ध आईपीसी की धारा-304 एवं 336 के तहत एफआईआर भी दर्ज करा दी गई है। बाणसागर कॉलोनी निवासी मोहम्मद जाबिर मंसूरी ने मृतक वीरेन्द्र उर्फ गोलू एवं मृतक राजकुमार नाहर की सुरक्षा का ध्यान रखे बिना और बिना सुरक्षा उपकरणों के लापरवाहीपूर्वक सैप्टिक टैंक की सफाई करवाने के लिए टैंक में उतारा। मृतकों की पहचान 32 वर्षीय विनोद चौरसिया और 30 वर्षीय राजकुमार नाहर के रूप में हुई है।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story