मप्रः मालवा-निमाड़ में साढ़े छह लाख स्मार्ट मीटर स्थापना कार्य पूर्ण

- सर्वाधिक इंदौर जिले में 2.80 लाख मीटर लगे

इन्दौर, 11 जून (हि.स.)। केंद्र शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले डिजिटल इंडिया अभियान के कार्यों में सहभागी बनते हुए मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने अत्याधुनिक स्मार्ट मीटर स्थापना में और तेजी लाई है। अब तक मालवा और निमाड़ क्षेत्र में साढ़े छह लाख स्मार्ट मीटरों की स्थापना का कार्य पूर्ण हुआ है। सबसे ज्यादा स्मार्ट मीटर इंदौर जिले में 2.80 लाख लगे है। स्मार्ट मीटर से उपभोक्ताओं को भी सुविधा मिल रही है। सौर ऊर्जा की गणना के लिए पृथक से मीटर की आवश्यकता भी नहीं लगती है।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने मंगलवार को जानकारी देते हुए बताया कि कंपनी क्षेत्र के चारों बड़े शहर इंदौर, उज्जैन, देवास, रतलाम में स्मार्ट मीटर प्राथमिकता से लगाए गए है। इंदौर शहर में करीब 2.65 लाख और इंदौर जिले में 2 लाख 80 हजार मीटर लगे हैं। निमाड़ क्षेत्र में करीब 84 हजार और मालवा क्षेत्र में 5 लाख 65 हजार मीटरों की स्थापना की जा चुकी है।

तोमर ने बताया कि उज्जैन शहर में 80 हजार, रतलाम शहर में 72 हजार, देवास शहर में करीब 46 हजार अत्याधुनिक स्मार्ट मीटर लगे है। नीमच, मंदसौर, खरगोन, शाजापुर, खंडवा, धार, नीमच, झाबआ, बड़वानी जिले के नगरीय क्षेत्रों में भी स्मार्ट मीटर निःशुल्क रूप से स्थापित हो रहे है। कंपनी के दो शहर महू और खरगोन पूर्णतः स्मार्ट मीटरीकृत हो चुके है।

प्रबंध निदेशक तोमर ने बताया कि स्मार्ट मीटर गैर घरेलू श्रेणी के उपभोक्ताओं को पावर फैक्टर की छूट बहुत ही सटीक तरीके से प्रतिमाह दिला रहे हैं। उपभोक्ताओं के मोबाइल पर पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के ऊर्जस एप पर संबंधित बिजली उपभोक्ता के स्मार्ट मीटर संबंधित सभी जानकारी लाइव देखी जा सकती है। उन्होंने बताया कि कंपनी का लक्ष्य हैं कि वर्ष 2025 तक नगरीय क्षेत्र के सभी स्थानों पर स्मार्ट मीटर लगे, इसी दिशा में वर्तमान में इंदौर सहित 13 जिलों में स्मार्ट मीटरीकरण प्राथमिकता के साथ जारी है।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/मयंक

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story