श्योपुर: गेहूं की खड़ी फसल में लगी आग, 400 बीघा से अधिक फसल खाक

जिलाधीश ने मौके पर पहुंचकर लिया जायजा, 24 घंटे में सर्वे के निर्देश

श्योपुर, 01 अप्रैल ं(हि.स.)। सोंईकलां—गोपालपुरा क्षेत्र में खेतों में पककर तैयार खड़ी गेहूं की फसल भीषण आग में जलकर खाक हो गई। देखते ही देखते आग ने भीषण रूप ले लिया। अज्ञात कारणों से भड़की आग पर जब तक काबू पाया जा सका तब तक आधा सैंकड़ा से ज्यादा किसानों की सालभर की मेहनत धुआं-धुआं हो गई। फायर बिग्रेड डेढ़ घंटे बाद मौके पर पहुंची, तब जाकर आग को बुझाया। इस आगजनी की घटना में 400 बीघा से ज्यादा गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गई। जिससे किसानों को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधीश लोकेश कुमार जांगिड़ मौके पर पहुंचे जिन्होंने किसानों से चर्चा कर नुकसान के बारे में जानकारी ली।

जानकारी के अनुसार सोंईकलां—गोपालपुरा के माड़ में गेहूं के खेतों में सोमवार को आग भड़क गई। इस आगजनी की वजह से किसानों को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। कई किसानों की फसलें पूरी तरह से जलकर खाक हो गई हैं। किसानों को जब आग लगने के बारे में पता चला तो उन्होंने आग को बुझाने का काफी प्रयास किया। आग इतनी भीषण तरीके से लगी की आस-पास के खेतों को भी अपनी चपेट में लिया। आग लगने की सूचना मिलने के बाद प्रशासन और पुलिस की टीमें मौके पर पहुंच गई। जिलाधीश लोकेश कुमार जांगिड़ भी प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंच गए। किसानों का आरोप है कि फायर बिग्रेड डेढ़ घंटे की देरी से पहुंची। इस वजह से आग समय पर नहीं बुझ सकी। उन्होंने नुकसान का पूरा मुआवजा दिए जाने की मांग की है। जिलाधीश लोकेश कुमार जांगिड़ ने 24 घंटे के अंदर नुकसान का सर्वे पूरा कराए जाने और प्रावधान के तहत नुकसान का पूरा मुआवजा दिलाने की बात कही है। जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी अतेन्द्र सिंह गुर्जर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मनोज गढ़वाल, एसडीओपी राजीव कुमार गुप्ता, तहसीलदार प्रेमलता पाल ने मौके पर पहुंचकर नुकसान का जायजा लिया।

25 हजार रुपये बीघा दिया जाए मुआवजा: कांग्रेस जिलाध्यक्ष अतुल चौहान ने सोंईकलां क्षेत्र में हुई आग लगने की घटना को मौके पर जाकर देखा। साथ ही जिला प्रशासन से मांग की है कि, खेतों पर पककर तैयार खड़ी सैकड़ों बीघा गेंहू की फसल के आग से राख हुई इसलिए पीडि़त किसानों को 25 हजार रुपये बीघा से मुआवजा दिया जाए। चौहान ने कहा कि ज्यादातर किसान 4 बीघा से लेकर 10 बीघा के गरीब वर्ग के हैं, इसलिए उन्हें तत्काल मुआवजा दिया जाए।

फसल क्षति आंकलन के लिए सर्वे कार्य शुरू: मौके पर पहुंचे जिलाधीश जांगिड़ द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में तहसीलदार प्रेमलता पाल के नेतृत्व में राजस्व निरीक्षक तथा छह पटवारियों का दल गठित किया गया है। मौके पर मौजूद तहसीलदार प्रेमलता पाल ने बताया कि राजस्व टीम द्वारा सर्वे कार्य शुरू कर दिया गया है तथा अगले 24 घंटे में फसल नुकसान का आंकलन कर सर्वे रिपोर्ट प्रस्तुत कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सोंई एवं गोपालपुरा में लगभग 300 बीघा गेहूं की फसल के नुकसान का अनुमान है। इसमें से कुछ फसल कट भी चुकी थी, सर्वे कार्य किया जा रहा है, सर्वे के उपरांत प्रभावित किसानों को मुआवजा राशि प्रदान की जाएगी।

हिन्दुस्थान समाचार/शरद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story