ग्वालियरः शहर में ई-रिक्शा के लिये रूट निर्धारित होंगे, लॉटरी पद्धति से किया जाएगा मार्गों का निर्धारण

ग्वालियरः शहर में ई-रिक्शा के लिये रूट निर्धारित होंगे, लॉटरी पद्धति से किया जाएगा मार्गों का निर्धारण
ग्वालियरः शहर में ई-रिक्शा के लिये रूट निर्धारित होंगे, लॉटरी पद्धति से किया जाएगा मार्गों का निर्धारण


- कलेक्टर ने शहर के ट्रैफिक प्लान को लेकर नगर निगम आयुक्त एवं अन्य अधिकारियों के साथ किया मंथन

ग्वालियर, 13 मई (हि.स.)। ग्वालियर शहर में ई-रिक्शा के मार्ग निर्धारित होंगे। तिराहों-चौराहों पर लेफ्ट टर्न फ्री किए जायेंगे। हाथ ठेलों को हॉकर्स जोन में व्यवस्थित किया जाएगा। चुनिंदा व्यस्ततम बाजार फोर व्हीलर फ्री जोन बनाने के प्रयास होंगे और पार्किंग व्यवस्था मजबूत की जाएगी। साथ ही शहर के यातायात को सुगम व सुव्यवस्थित करने के लिये अन्य कारगर कदम भी उठाए जाएंगे। इस सिलसिले में कलेक्टर रुचिका चौहान ने सोमवार को नगर निगम आयुक्त हर्ष सिंह एवं अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ शहर के ट्रैफिक प्लान पर विचार मंथन किया। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन, नगर निगम एवं पुलिस द्वारा शहरवासियों के सहयोग से शहर के ट्रैफिक प्लान को मूर्तरूप दिया जाएगा। साथ ही हर हफ्ते बैठक लेकर शहर की यातायात व्यवस्था की नियमित रूप से समीक्षा भी की जाएगी।

कलेक्ट्रेट में हुई बैठक में कलेक्टर रुचिका चौहान ने नगर निगम आयुक्त एवं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से कहा कि ई-रिक्शा के लिये इस प्रकार से रूट चयनित करें, जिससे ई-रिक्शा चालकों को रोजगार मिलता रहे। साथ ही शहर की यातायात व्यवस्था को सुगम व सुव्यवस्थित बनाया जा सके। उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से कहा कि शहर में चल रहे सभी ई-रिक्शा को एनआईसी में सूचीबद्ध कराएँ। ई-रिक्शा चालकों से तीन-तीन मार्गों की च्वॉइस (पसंद) लें और लॉटरी निकालकर तय करें कि कौनसा ई-रिक्शा किस रूट पर चलेगा।

कलेक्टर ने कहा कि अलग-अलग रूट पर चलने वाले ई-रिक्शा पर अलग-अलग रंग की पट्टियाँ प्रदर्शित कराएँ। उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से यह भी कहा कि राज्य एवं राज्य के बाहर के बड़े-बड़े शहरों में ई-रिक्शों के संचालन को लेकर लागू की गई व्यवस्था के बारे में भी पता करें, जिससे शहर का बेहतर से बेहतर ट्रैफिक प्लान तैयार हो सके।

नगर निगम आयुक्त हर्ष सिंह ने बताया कि शहर के चौराहों को यातायात के लिहाज से सुव्यवस्थित किया जा रहा है। प्रथम चरण में 10 चौराहों का काम हाथ में लिया गया है। साथ ही लेफ्ट टर्न फ्री करने की कार्ययोजना भी नगर निगम द्वारा तैयार कर ली गई है। उन्होंने बताया कि शहर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिये 70 ई-बसें चलाने की प्रक्रिया प्रचलन में है। बैठक में अपर आयुक्त नगर निगम मुनीष सिकरवार एवं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी एचके सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

आईएसबीटी शुरू करने से पहले पब्लिक ट्रांसपोर्ट मजबूत करें

कलेक्टर रुचिका चौहान ने कहा कि शहर में नवनिर्मित आईएसबीटी (अंतर्राज्यीय बस अड्डा) शुरू करने से पहले पब्लिक ट्रांसपोर्ट मजबूत करें, जिससे आईएसबीटी पर पहुँचने वाले यात्रियों को शहर की विभिन्न बस्तियों तक पहुँचने में दिक्कत न हो। उन्होंने आईएसबीटी से शहर के लिये ई-बस सेवा शुरू करने की बात भी कही। प्रयास ऐसे हों कि यात्रियों को आईएसबीटी से अपने घर तक पहुँचने के लिए कम किराए में साधन मिल जाए।

फायर सेफ्टी न होने पर मैरिज गार्डन व नर्सिंग होम के खिलाफ कार्रवाई करें

कलेक्टर ने कहा कि किसी भी मैरिज गार्डन में लोगों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता न हो। सभी मैरिज गार्डन पर फायर एनओसी अनिवार्यत: होना चाहिए। साथ ही सुरक्षा संबंधी अन्य नियम प्रावधानों का भी सभी मैरिज गार्डन में कड़ाई से पालन कराया जाए। इसी तरह नर्सिंग होम व अन्य अस्पतालों में भी फायर सेफ्टी कानून का कड़ाई से पालन कराने पर उन्होंने बल दिया।

शहर की पेयजल व्यवस्था की जानकारी भी ली

कलेक्टर रुचिका चौहान ने नगर निगम आयुक्त से शहर की पेयजल व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिये किए जा रहे प्रयासों की जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि शहर की सभी बस्तियों में पेयजल व्यवस्था पर विशेष नजर रखें और जहाँ जरूरत हो वहाँ टैंकर के जरिए भी पेयजल उपलब्ध कराया जाए।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश / उमेद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story