साडा क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त लॉजिस्टिक पार्क की कार्ययोजना तैयार करें: संभाग आयुक्त

साडा क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त लॉजिस्टिक पार्क की कार्ययोजना तैयार करें: संभाग आयुक्त
साडा क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त लॉजिस्टिक पार्क की कार्ययोजना तैयार करें: संभाग आयुक्त


- संभाग आयुक्त ने साडा बोर्ड की बैठक में दिए निर्देश

ग्वालियर, 12 फरवरी (हि.स.)। साडा (विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण) क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त लॉजिस्टिक पार्क की स्थापना के लिए कार्ययोजना तैयार करें। लॉजिस्टिक पार्क के लिये साडा के अंतर्गत ऐसी जमीन चिन्हित करें, जो नवनिर्मित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम व शहर के नजदीक हो। यह निर्देश संभाग आयुक्त दीपक सिंह ने सोमवार को साडा बोर्ड की बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिए। बैठक में नगर निगम आयुक्त हर्ष सिंह भी मौजूद थे।

संभाग आयुक्त सिंह ने कहा कि लॉजिस्टिक पार्क की कार्ययोजना इस प्रकार से तैयार करें, जिससे उसके आसपास अन्य व्यवसायिक गतिविधियों और आवासीय क्षेत्र को बढ़ावा मिले। साथ ही स्टेडियम के आसपास के क्षेत्र की सुंदरता बढ़े। उन्होंने लॉजिस्टिक पार्क के लिये फोरलेन सड़क सहित कार्ययोजना तैयार करने को कहा।

सिटी सेंटर क्षेत्र में शिवाजी पार्क के समीप बनाए गए बहुउद्देश्यीय कला केन्द्र को राजा मानसिंह तोमर संगीत एवं कला विश्वविद्यालय को सौंपने पर भी साडा बोर्ड की बैठक में विचार किया गया। संभाग आयुक्त सिंह ने बैठक में मौजूद नगर निगम आयुक्त से कहा कि बहुउद्देश्यीय कला केन्द्र के पास गार्डन सहित अन्य सुविधाएँ विकसित कराएँ। इसके बाद संस्कृति विभाग के माध्यम से राजा मानसिंह तोमर संगीत एवं कला विश्वविद्यालय को इसे सौंपने की कार्रवाई की जाए, जिससे म्यूजिक सिटी की थीम पर यहाँ पर सांस्कृतिक गतिविधियाँ आयोजित हो सकें।

साडा बोर्ड की बैठक में राज विद्या केन्द्र नईदिल्ली को अपनी गतिविधियाँ शुरू करने के लिये पूर्व में आवंटित 10.50 एकड़ जमीन के बदले में समीप ही दूसरी जमीन आवंटित करने का निर्णय भी लिया गया। संभाग आयुक्त ने इस संस्था को बदले में नई जमीन आवंटित करने के सिलसिले में एक समिति गठित की है। समिति में साडा के संपदा अधिकारी सहायक यंत्री, लेखा अधिकारी व उपयंत्री शामिल किए गए हैं। इस समिति के प्रतिवेदन के आधार पर आवंटन की कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने समिति के सदस्यों से कहा है कि वित्तीय और सभी प्रकार के तकनीकी पहलुओं को ध्यान में रखकर अपना प्रतिवेदन दें।

ज्ञात हो कि राज्य विद्या केन्द्र द्वारा भूखण्ड की ब्याज सहित कुल प्रीमियम राशि लगभग 3 करोड़ 75 लाख रुपये साडा में जमा की जा चुकी है। पूर्व में इस संस्था को जो जमीन आवंटित की गई थी, उस पर पीटीएस तिघरा ने आपत्ति दर्ज कराई है। संस्था जल्द से जल्द अपना काम शुरू कर सके, इस बात को ध्यान में रखकर साडा बोर्ड ने उसे दूसरी जमीन देने का निर्णय लिया है।

बैठक में नगर निगम आयुक्त हर्ष सिंह सहित साडा के संपदा अधिकारी पवन सिंघल व साडा बोर्ड के अन्य सदस्यगण मौजूद थे। साथ ही उपायुक्त विकास शिवप्रसाद व नोडल अधिकारी विशाल प्रताप सिंह तोमर भी उपस्थित थे।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story