मप्रः उच्च शिक्षा विभाग में अधिकारी-कर्मचारियों के गोपनीय प्रतिवेदन मूल्यांकन के लिए ऑनलाइन प्रणाली लागू

- ऑनलाइन प्रणाली से गोपनीय प्रतिवेदनों से संबंधित अभ्यावेदनों के निराकरण भी होंगे

भोपाल, 11 जून (हि.स.)। उच्च शिक्षा विभाग ने शासकीय महाविद्यालयों एवं संचालनालय में पदस्थ शैक्षणिक/गैर-शैक्षणिक अधिकारियों/कर्मचारियों के गोपनीय प्रतिवेदनों के मूल्यांकन एवं गोपनीय प्रतिवेदनों से संबंधित अभ्यावेदनों के निराकरण के लिए ऑनलाईन प्रणाली लागू की है, जो वर्षांत 31 मार्च 2024 से लागू मानी जाएगी। यह जानकारी मंगलवार को जनसम्पर्क अधिकारी राजेश दाहिमा ने दी।

उन्होंने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग में कार्यरत राजपत्रित प्रथम एवं द्वितीय श्रेणी संवर्ग के अधिकारियों के लिए निर्धारित ऑनलाईन मूल्यांकन प्रणाली के अनुसार क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक, सहायक संचालक, स्नातकोत्तर प्राचार्य और स्नातक प्राचार्य के लिए समीक्षक प्राधिकारी आयुक्त उच्च शिक्षा और स्वीकृतकर्ता प्राधिकारी प्रमुख सचिव/ सचिव उच्च शिक्षा होंगे।

प्राध्यापक, सहायक प्राध्यापक (प्रवर श्रेणी), सहायक प्राध्यापक (वरिष्ठ एवं कनिष्ठ श्रेणी), ग्रंथपाल, क्रीड़ाधिकारी एवं रजिस्ट्रार के लिए समीक्षक प्राधिकारी क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक और स्वीकृतकर्ता प्राधिकारी आयुक्त उच्च शिक्षा होंगे।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/मयंक

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story