मंदसौर: विद्या भारती मालवा की अभा बैठक के द्वितीय दिवस राष्ट्रीय शिक्षा नीति सहित अन्य विषयों पर हुई चर्चा

मंदसौर: विद्या भारती मालवा की अभा बैठक के द्वितीय दिवस राष्ट्रीय शिक्षा नीति सहित अन्य विषयों पर हुई चर्चा
मंदसौर: विद्या भारती मालवा की अभा बैठक के द्वितीय दिवस राष्ट्रीय शिक्षा नीति सहित अन्य विषयों पर हुई चर्चा


मन्दसौर, 9 जून (हि.स.)। विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान की साधारण सभा बैठक के द्वितीय दिवस रविवार को सरस्वती विहार शैक्षिक संस्थान, सैनिक विद्यालय मंदसौर परिसर में जारी रही। विद्या भारती इस देश की अगली पीढ़ी को जीवन मूल्यों से युक्त गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए विगत 72 वर्षों से कार्यरत हैं। शिक्षा में जीवन मूल्यों का समावेश हो ऐसा प्रयास विद्या भारती के अतिरिक्त देश में अनेक शैक्षिक, आध्यात्मिक संस्थाएं कार्य कर रही है।

ऐसे 29 शैक्षिक संस्थानों के प्रमुख प्रतिनिधियों के साथ विगत 29 मार्च को दिल्ली में संपन्न बैठक की जानकारी विद्या भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकृष्ण राव ने देते हुए बताया कि चिन्मय मिशन, रामकृष्ण मिशन, विवेकानंद केंद्र, माता अमृतानंदमयी आश्रम, महर्षि महेश योगी संस्थान, डीएवी सोसायटी आदि संस्थाओं के पदाधिकारियों ने यह मानते हुए कि संगठन अलग- अलग होने पर भी हमारे लक्ष्य और कार्य की दिशा समान है। साथ मिलकर शिक्षक प्रशिक्षण प्रशासन साहित्य का आदान-प्रदान सांस्कृतिक पृष्ठभूमि आधारित सामूहिक कार्यक्रमों में परस्पर सहयोग करने का निर्णय लिया।

रामकृष्ण राव ने शिक्षक प्रशिक्षण की व्यवस्था प्रांतों में डिजिटल प्रशिक्षण केंद्रों की सक्रियता की स्थिति, स्पोकन इंग्लिश, प्रशिक्षण केंद्र आदि पर भी सभी प्रांतों के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा की। भारत सरकार शिक्षा मंत्रालय के अधीन भारतीय भाषा समिति के अध्यक्ष पद्मश्री चमू कृष्ण शास्त्री भी आज इस बैठक में उपस्थित रहे राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 तथा उसके अनुरूप तैयार पाठ्यचर्चा में भाषा नीति के संबंध में सरकार के विभिन्न संस्थानों की पहल और भूमिका की विस्तार से चर्चा की ।

इस अवसर पर भारतीय शिक्षा में पंच कोषात्मक एवं समग्र विकास की संकल्पना, . ज्ञान की बात अंग्रेजी शिक्षा के दुष्परिणाम, प्रात: वंदे, महानायक लांचित बरफूकन, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान, संगठन की महिला वैज्ञानिक, संस्कृति के रंग कहानियों के संग, बच्चों के राम, माता की पाठशाला, स्वाधीनता संग्राम में महिलाएं, कालजयी भारतीय ज्ञान, पर चर्चा की गई। इस दौरान पुस्तक एवं पत्रिकाओं का अतिथियों द्वारा विमोचन भी किया गया।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सर कार्यवाह कृष्ण गोपाल ने सामाजिक समरसता, पर्यावरण संरक्षण, नागरिक के रूप में कर्तव्य बोध तथा विद्यालयों की गुणवत्ता विकास और पूर्व छात्रों की सक्रियता के विषय पर उपस्थित प्रतिनिधियों से चर्चा की। आज के दिन की पूर्णता सरस्वती विहार शैक्षिक संस्थान, सैनिक विद्यालय, मंदसौर के पूर्व छात्रों से परिचय तथा विद्यालय के आचार्य द्वारा प्रस्तुत किए गए रंगमंचीय कार्यक्रम के साथ पूर्ण हुई। तीन दिन चलने वाली इस बैठक का आज सोमवार 10 जून को समापन होगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ अशोक झलौया/मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story