मप्र : बढ़ती गर्मी के मद्देनजर मौसम विभाग ने जारी की एडवायजरी

- जन-समुदाय लू के प्रकोप से बचाव के लिये बताए गए उपाय

भोपाल, 3 अप्रैल (हि.स.) । भारतीय मौसम विभाग ने चल रहे मौसमी दृष्टिकोण को देखते हुए प्रदेश सहित समस्त मध्य भारत में अप्रैल-मई-2024 का तापमान औसत तापमान से अधिक होने की संभावना व्यक्त की है। इसके कारण प्रदेश के अधिकांश भागों में लू (तापघात) की स्थिति निर्मित हो सकती है। मौसम विभाग ने लू के प्रभाव, लक्षण और प्राथमिक उपचार की जानकारी दी है। गृह विभाग के मध्यप्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने इस संबंध में प्रदेश स्तर पर विभिन्न विभागों और जिलों को आवश्यक कार्रवाई के लिये निर्देश जारी किये है।

लू से बचाव के लिये सावधानी अपनाने की दी गई सलाह

मध्यप्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने लू से जन-सामान्य के बचाव के लिये समस्त जिला प्राधिकरणों तथा लू प्रबंधन से संबंधित समस्त विभागों द्वारा प्रदेश में संभावित लू के प्रकोप को गंभीरता से लेते हुए इससे होने वाली क्षति को कम करने के लिये विभागीय एवं जिला स्तर पर सभी आवश्यक कदम उठाए जाने के निर्देश दिये हैं। साथ ही सलाह दी गई है कि :-

- पानी, छांछ, ओ.आर.एस. का घोल या घर में बने पेय जैसे लस्सी, नीबू पानी, आम का पना इत्यादि का सेवन कर तरो-ताजा रहें।

- यथा संभव दोपहर 12 से दोपहर 3 बजे के बीच धूप में बाहर निकलने से बचें।

- धूप में निकलते समय अपना सिर ढक कर रखें। कपड़े, टोपी अथवा छतरी का उपयोग करें।

- धूप में निकलने के पहले तरल पदार्थ का सेवन करें। पानी हमेशा साथ रखें। शरीर में पानी की कमी न होने दें।

- सूती, ढीले एवं आरामदायक कपड़े पहनें। सिंथेटिक एवं गहरे रंग के वस्त्र पहनने से बचें।

- जानवरों को छाया में रखें और उन्हें पर्याप्त मात्रा में पीने का पानी दें।

- अत्यधिक गर्मी होने की स्थिति में ठंडे पानी से शरीर को पोछे या कई बार स्नान करें। धूप तथा गर्म हवाओं के संपर्क के तुरंत बाद स्नान न करें।

- गरिष्ठ, वसायुक्त, ज्यादा प्रोटीन वाले भोजन तथा अल्कोहल, चाय, काफी जैसे पेय पदार्थ का उपयोग कम से कम करें।

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के संशोधित दिशा-निर्देशों के अनुसार स्थानीय जिला “लू’’ से बचाव के लिये कार्य-योजना तैयार करने के निर्देश दिये गये है। निर्देशित किया गया है कि प्रत्येक स्तर (जिला, तहसील, ब्लॉक, विभाग आदि) पर लू प्रबंधन के लिये नोडल अधिकारी को नामांकित किया जाये। भारतीय मौसम विज्ञान द्वारा प्रतिदिन जारी तू चेतावनी को जिला कमांड और नियंत्रण केंद्र के माध्यम से जन-सामान्य तथा संबंधित विभागों तक पहुंचाने की आवश्यक व्यवस्था की जाये।

स्कूल शिक्षा विभाग

स्कूल तथा शैक्षणिक संस्थाओं का कार्य समय, भारतीय मौसम विज्ञान द्वारा लू से संबंधित दी गई चेतावनी अनुसार आवश्यकतानुसार विधिवत परिवर्तन करने के लिये आवश्यक आदेश जारी करने के निर्देश स्कूल शिक्षा विभाग को दिये गये है। शैक्षणिक संस्थाओं के क्लास रूम को शीतल रखने की यथोचित व्यवस्था की जाये।

लोकसभा चुनाव के दौरान व्यवस्था

राज्य स्तर से जारी निर्देशों में कहा गया है कि लोकसभा चुनाव में मतदान में संलग्न अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिये लू पर दिशा-निर्देश जारी किये जायें। राजनीतिक दलों के कार्यकर्मों मे लू प्रबंधन के लिये दिशा-निर्देश जारी किये जायें। मतदान कर्मियो के प्रशिक्षण के दौरान लू से बचने के लिये फर्स्ट ऐड की व्यवस्था की जाये।

हिन्दुस्थान समाचार / उमेद/नेहा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story