मुरैना: पशुपालन विभाग के उप संचालक रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़े गए

मुरैना: पशुपालन विभाग के उप संचालक रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़े गए
मुरैना: पशुपालन विभाग के उप संचालक रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़े गए


- लोकायुक्त की टीम ने की कार्यवाही

मुरैना, 02 अप्रैल (हि.स.)। पशुपालन विभाग के उप संचालक आर पी एस भदौरिया को ग्वालियर लोकायुक्त की टीम ने 3 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। यह रिश्वत आचार्य विद्यासागर गौ संवर्धन योजना के तहत लोन दिलाने के नाम पर ली गई थी। रिश्वत मांगने की शिकायत लोन लेने वाले युवक ने लोकायुक्त में की थी।

बताया जाता है कि कृत्रिम गर्भाधान केन्द्र नूराबाद में लैब टेक्नीशियन के तौर पर पदस्थ सतेन्द्र मावई के भाई ने आचार्य विद्यासागर गौ संवर्धन योजना के तहत लोन लेने के लिए आवेदन किया था। इस योजना में छह लाख रुपये का लोन मंजूर भी हो गया था। लोन मंजूर कराने के एवज में उपसंचालक आर पी एस भदौरिया ने 15 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। जिसमें से सात हजार रुपए की पहली किश्त उप संचालक ले चुका था , शेष रुपए फरियादी से लेने थे। बताया जाता है कि कृत्रिम गर्भाधान केंद्र नूराबाद में पदस्थ सतेंद्र मावई के भाई ने लोकायुक्त में शिकायत की थी। जिसकी शिकायत पर मंगलवार को कार्यवाही की गई है। कार्यवाही करने वाली लोकायुक्त टीम में डीएसपी विनोद कुमार कुशवाह, प्रद्युम्न पाराशर, प्रदीप चौहान, बृजमोहन नरबरिया शामिल थे।

हिन्दुस्थान समाचार/शरद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story