भोपाल: महापौर मालती राय और निगम अध्यक्ष ने किया मोतिया तालाब की स्वच्छता के लिए श्रमदान

भोपाल: महापौर मालती राय और निगम अध्यक्ष ने किया मोतिया तालाब की स्वच्छता के लिए श्रमदान
भोपाल: महापौर मालती राय और निगम अध्यक्ष ने किया मोतिया तालाब की स्वच्छता के लिए श्रमदान


भोपाल: महापौर मालती राय और निगम अध्यक्ष ने किया मोतिया तालाब की स्वच्छता के लिए श्रमदान


- तालाबों में गंदगी फैलाने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश

भोपाल, 9 जून (हि.स.)। मध्यप्रदेश शासन की पहल पर प्रदेश में चलाए जा रहे ‘‘जल गंगा संवर्धन अभियान’’ के तहत महापौर मालती राय व निगम अध्यक्ष किशन सूर्यवंशी ने अन्य जनप्रतिनिधियों व पर्यावरण प्रेमियों के साथ रविवार को मोतिया तालाब की स्वच्छता के लिए श्रमदान किया और कचरा, गाद मिट्टी आदि निकाली। महापौर मालती राय ने शहर के तालाबों, झीलों, कुओं, बावड़ियों व अन्य जल संरचनाओं के संरक्षण, संवर्धन हेतु सक्रिय सहयोग करने पर नागरिकों का आभार व्यक्त किया और आगे भी और अधिक सक्रियता के साथ निगम को सहयोग करने का आव्हान किया।

महापौर राय ने मोतिया तालाब को कचरा व गंदगी से बचाने हेतु ऊंची जालियां लगाने, तालाबों के आसपास से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। साथ ही निर्देशित किया कि तालाबों में सीधे गंदा पानी बहाने वाले अस्पतालों के विरूद्ध भी कार्यवाही की जाए। इस अवसर पर अपर आयुक्त टीना यादव, जोन अध्यक्ष विनीता सोनी, पार्षद प्रियंका मिश्रा व सरोज आसेरी सहित गणमान्य नागरिक व निगम के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे।

राय ने कहा कि जिन तालाबों का पानी पीने योग्य नहीं है उन तालाबों का एवं बावड़ियों, कुओं के पानी का उपयोग उद्यानों आदि की सिंचाई में किया जाएगा जिससे शहर की सुंदरता में और अधिक वृद्धि होगी और जलाशयों के पानी का भी सदुपयोग होगा। महापौर राय ने मोतिया तालाब सहित अन्य तालाबों में कचरा, गंदगी फेंकने पर चिंता व्यक्त करते हुए तालाबों के किनारे ऊंची जालियां लगाने के निर्देश दिए ताकि कचरा तालाबों में न फेंका जाए। महापौर ने निर्देशित किया मोतिया तालाब के आसपास के अस्पताल संचालकों को तालाब में कचरा, गंदगी व अनुपचारित पानी न बहाने हेतु समझाइश दी जाए और यदि फिर भी अस्पताल संचालकों द्वारा तालाबों में गंदगी फैलाई जाती है तो उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाए।

गौरतलब है कि ‘‘जल गंगा संवर्धन अभियान’’ के तहत शहर के झीलों, तालाबों, कुएं, बावड़ियों सहित अन्य जल संरचनाओं के संरक्षण, संवर्धन हेतु निगम द्वारा विस्तृत कार्य योजना को क्रियान्वित किए जाने हेतु प्रतिदिन प्रातः 08 बजे से 10 बजे तक जल संरचनाओं की स्वच्छता हेतु श्रमदान व अन्य कार्यवाही निरंतर की जा रही है। इस कार्य में शहर के नागरिकों का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है।

हिन्दुस्थान समाचार / उमेद/मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story