जनहितैषी गतिविधियों को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित करना राज्य सरकार की प्राथमिकता - मुख्यमंत्री डॉ. यादव

भोपाल, 11 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने मंगलवार को कहा है कि राज्य शासन की विगत 180 दिन की महत्वपूर्ण उपलब्धियां रही हैं। हमारा उद्देश्य है कि सरकार उपलब्ध संसाधनों के साथ जनहितैषी गतिविधियों को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित करें और प्रदेश विकास के पथ पर निरंतर अग्रसर हो। इसी उद्देश्य से मंत्रीगण के संबंधित विभागों की आगामी कार्ययोजना के बारे में चर्चा के लिए यह बैठक आयोजित की गई है। सुशासन सरकार की सवोच्च प्राथमिकता है, इसे सही स्वरूप में धरातल पर उतारना विभागों का लक्ष्य हो। विभाग यह सुनिश्चित करें कि लोगों को सरकारी दफ्तरों के अनावश्यक चक्कर न लगाना पड़े। विकास कार्यों में अनावश्यक विलंब न हो, हर स्तर पर त्वरित निर्णय लेकर कार्यों को समय-सीमा में पूरा किया जाए और कार्य पूर्ण पारदर्शिता के साथ सम्पन्न हो। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य को प्राप्त करने में मध्यप्रदेश सर्वोत्कृष्ट योगदान दे।

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव राज्य सरकार की विगत 6 माह की महत्वपूर्ण विभागीय उपलब्धियां के संबंध में मंत्रालय में बैठक को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने पीएमश्री पर्यटन वायु सेवा का डिजिटली शुभारंभ भी किया। बैठक में मंत्रीगण, मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव तथा प्रमुख सचिव शामिल हुए।

प्रदेश की पहचान बनाने वाली औद्योगिक गतिविधियों को प्रोत्साहित किया जाए

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि हर्ष का विषय है कि प्रदेश में यह वर्ष गौवंश रक्षा वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है, जो गुड़ी पड़वा से आरंभ हुआ है। राज्य सरकार ने गौशालाओं का मानदेय भी दुगना करने का निर्णय लिया है, यह मानदेय देश में सर्वाधिक होगा। प्रदेश में क्षेत्रीय स्तर पर इन्वेस्टर्स समिट आयोजित करने का निर्णय लिया गया है, इससे क्षेत्र आधारित उद्योगों को प्रोत्साहित करने और रोजगार के नए अवसर सृजित करने में मदद मिलेगी। प्रदेश की कृषि विकास दर में सुधार हुआ है, इसके साथ ही उद्योग के क्षेत्र में प्रगति के लिए भी विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। एमएसएमई के साथ-साथ कुटीर उद्योग तथा प्रदेश की पहचान स्थापित करने वाली हस्तशिल्प और अन्य औद्योगिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष गतिविधियां संचालित की जाएंगी। इसके अंतर्गत विक्रमादित्य शोधपीठ उज्जैन को पत्थर की प्रतिमाओं के निर्माण के केन्द्र के रूप में विकसित किया जा रहा है।

प्रदेश के सभी 29 संसदीय क्षेत्रों में एक-एक मेडिकल कॉलेज आरंभ होगा

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश में प्रशासनिक दक्षता में वृद्धि के उद्देश्य से जिलों और संभागों की सीमाओं के पुनर्निधारण के लिए आयोग गठित किया गया है। लोक स्वास्थ्य व्यवस्था को अधिक जनोन्मुखी और दक्ष बनाने के उद्देश्य से लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग को एक करने और निजी स्वास्थ्य संस्थाओं को लोक स्वास्थ्य से जोड़ने की दिशा में भी कार्य हो रहा है। हमारा प्रयास है कि प्रदेश के सभी 29 संसदीय क्षेत्रों में एक-एक मेडिकल कॉलेज आरंभ हो। अगले चरण में प्रत्येक जिले में एक-एक मेडिकल कॉलेज आरंभ किया जाएगा। स्वास्थ्य के क्षेत्र में राज्य सरकार द्वारा अनेक नवाचार किए जा रहे हैं।

प्रत्येक जिले में एक्सीलेंस कॉलेज और हर विश्वविद्यालय में कृषि संकाय आरंभ हो

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि 21 जून को आयोजित होने वाले योग दिवस पर सभी जिला मुख्यालयों में भव्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएं तथा अधिक से अधिक नागरिकों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए। प्रदेश में कॉलेज चले हम अभियान से सकल नामांकन अनुपात में सुधार हुआ है, इसे और बेहतर बनाना है। महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को बस सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में भी प्रयास हो, इससे दूरदराज के विद्यार्थियों को किफायती दर पर महाविद्यालय आवागमन में आसानी होगी और उनकी उपस्थिति बढ़ेगी तथा रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। उन्होंने प्रत्येक जिले में एक एक्सीलेंस कॉलेज आरंभ करने और हर विश्वविद्यालय में स्नातक स्तर पर कृषि संकाय आरंभ करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि महाविद्यालयीन विद्यार्थियों के लिए साइंस सिटी, आर्ब्जवेटरी और पुरातात्विक महत्व के स्थानों के भ्रमण कार्यक्रम आयोजित किए जाएं तथा महाविद्यालयों में वैज्ञानिक संवाद भी हों। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश के सभी शासकीय व निजी महाविद्यालय को एक-एक गाँव गोद लें। पंचायतों और नगरीय निकायों का कोई भी पदाधिकारी निरक्षर न रहे, इसके लिए विशेष अभियान आरंभ किया जाए। छात्रावासों में समरसतापूर्ण वातावरण निर्माण के लिए विशेष प्रयास किए जाएं।

जल संरचनाओं के संरक्षण को जनता का अभियान बनाया जाए

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश में जल संरचनाओं के संरक्षण के लिए चल रहे जल गंगा संवर्धन अभियान को सच्चे अर्थों में जनता का अभियान बनाया जाए। गंगा दशहरा 16 जून को सभी मंत्रीगण अपने-अपने क्षेत्रों में अभियान में भाग लें। गंगा दशहरा से पीएम श्री पर्यटन वायु सेवा के अंतर्गत उज्जैन से भी हवाई यात्रा की शुरूआत होगी।

वर्षाकाल आगमन से पहले की समस्त तैयारियों के बारे में सजग रहें शासन-प्रशासन

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि वार्ड और ग्राम स्तर तक वर्षाकाल आगमन से पहले की समस्त तैयारियों के बारे में शासन-प्रशासन सजग रहें। खरीफ फसल के लिए कहीं भी खाद, बीज और आदानों की उपलब्धता में समस्या न आए और खाद की कालाबाजारी की स्थिति निर्मित न हो। उन्होंने कहा कि शेष बचे पात्र हितग्राहियों को अभियान चलाकर आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने सभी विभागों के प्रमुख सचिवों को लगातार फील्ड के दौरे करने के निर्देश दिए।

हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा/मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story