ग्वालियर: दोपहर में रिमझिम बरसे मेघ, गुरुवार को भी आसार

WhatsApp Channel Join Now

-36 डिग्री के पार टिका अधिकतम पारा

ग्वालियर, 10 जुलाई (हि.स.)। इस समय कोई मजबूत मौसम प्रणाली सक्रिय नहीं होने से मानसूनी गतिविधियां कमजोर पड़ गई हैं। फिलहाल स्थानीय प्रभाव से ही अंचल में कहीं-कहीं हल्की-फुल्की बारिश हो रही है। इसी क्रम में बुधवार को भी शहर में दोपहर के समय हल्की बारिश हुई। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान भी अंचल में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बारशि होने का पूर्वानुमान जताया है।

ग्वालियर में बुधवार सुबह से दोपहर तक ज्यादातर समय धूप खिली रही। इस दौरान उमस का प्रकोप रहा। दोपहर 12 बजे के बाद लगभग 15 मिनट तक शहर में कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश हुई। इस दौरान 12.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इस प्रकार एक जून से अब तक कुल 357.5 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है।

मौसम विभाग के अनुसार इस समय मानसून की अक्षय रेखा जैसलमेर, कोटा, शिवपुरी, डाल्टनगंज, कोंटई से पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी तक विस्तृत है। पूर्वोत्तर उत्तर प्रदेश से उत्तरी बिहार, उप हिमालयी पश्चिम बंगाल होते हुए असम में बने चक्रवातीय परिसंचरण तक द्रोणिका बनी हुई है। गुजरात में कक्ष और पूर्वोत्तर राजस्थान में अलग-अलग चक्रवातीय परिसंचरण सक्रिय हैं। हालांकि इन मौसम प्रणालियों का ग्वालियर-चंबल संभाग में सीधा कोई प्रभाव नहीं है लेकिन इनके असर से हवाओं के साथ नमी आ रही है। ऐसे में स्थानीय प्रभाव से ही बारिश की उम्मीद की जा सकती है। यानी तेज धूप निकलने और वातावरण में उमस बढऩे की स्थिथि में कहीं-कहीं बारिश हो सकती है।

स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार पिछले दिन की अपेक्षा आज अधिकतम तापमान 0.3 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 36.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो औसत से 1.7 डिग्री सेल्सियस अधिक है। न्यूनतम तापमान भी 0.5 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 27.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार/शरद

हिन्दुस्थान समाचार / शरद शर्मा / मुकेश तोमर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story