कांग्रेस कार्यालय से लेकर कमलनाथ आवास तक, सब भ्रष्टाचार में लिप्त: विष्णुदत्त शर्मा

कांग्रेस कार्यालय से लेकर कमलनाथ आवास तक, सब भ्रष्टाचार में लिप्त: विष्णुदत्त शर्मा
कांग्रेस कार्यालय से लेकर कमलनाथ आवास तक, सब भ्रष्टाचार में लिप्त: विष्णुदत्त शर्मा


भोपाल, 31 मार्च (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जहां देश की 140 करोड़ जनता को ये भरोसा दिलाते हैं कि उनके खून और पसीने की पाई-पाई देश को समर्पित है, वहीं भ्रष्ट कांग्रेस पार्टी व इंडी गठबंधन का नया करप्शन जनता के सामने आ रहा है। कांग्रेस ने केवल टैक्स की ही चोरी नहीं की, बल्कि 2004 से 2014 तक देश में बहुत से घोटालों को भी अंजाम दिया, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की सरकार में कानून सबके लिए बराबर है। कानूनी कार्रवाई के बीच अगर कोई आएगा, तो उसे कानून के लंबे हाथों का सामना और देश के कानून का पालन करना पडे़गा। कांग्रेस कार्यालय से लेकर मध्यप्रदेश के करप्शननाथ के नाम से चर्चित कमलनाथ आवास तक सब भ्रष्टाचार में शामिल हैं। कांग्रेस कर की चोरी करके शोर मचा रही है। आयकर विभाग की जांच में कमलनाथ की भूमिका सवालों के घेरे में है और कर चोरी में उनका हाथ सामने आ रहा है। मीडिया में चल रही रिपोर्ट भी कमलनाथ को सवालों के घेरे में खड़ा कर रही है। ऐसे में कमलनाथ को जनता के समक्ष चंदे के धन्धे का हिसाब देना चाहिए।

यह बात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने रविवार को ग्वालियर में पत्रकार-वार्ता को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस लगातार बुरे दिनों की ओर बढ़ रही है। कांग्रेस ने पहले कहा था कि 200 करोड़ का नोटिस मिला है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी बता रहे हैं कि आयकर विभाग से इन्हें 1800 करोड़ का टैक्स नोटिस मिला है, कांग्रेस बताएं कि यह पोल आखिर है कितनी गहरी। कांग्रेस ने भ्रष्टाचार की काली कमाई करने के साथ कई वरिष्ठ नौकरशाहों, मंत्रियों व व्यापारियों से बड़े पैमाने पर रिश्वत की वसूली की है। कांग्रेस केवल मेवा खाने के लिए राज करती है, भाजपा देश सेवा के लिए कार्य करती है। आजादी के बाद 60 साल तक देश की सेवा करने के नाम पर भारत की भोली भाली जनता को ठगने और लूटने वाली कांग्रेस और कमलनाथ अब अपने ही बनाए जाल में फंसते जा रहे हैं, तब लोकतंत्र की दुहाई दे रहे हैं। छिंदवाड़ा के विकास को लेकर खोखले वादे करने वाले कमलनाथ इस बार छिंदवाड़ा की जनता से आखें नहीं मिला पाएंगे।

कमलनाथ मध्यप्रदेश की जनता को अपने घोटालों के संबंध में बताएं

शर्मा ने कहा कि आयकर विभाग ने अप्रैल 2019 में मध्यप्रदेश में कई ठिकानों पर सर्चिंग की थी, तब दो कंपनियों से जुड़ी कैश रिसिप्ट मिली थी। जिसमें एक कंपनी ने ठेकों के बदले नकद दिया, तो वहीं दूसरी कंपनी कमलनाथ के करीबी की बताई गई जिसने कांग्रेस को करोड़ो में नकद राशि दी थी। करप्शननाथ दुनिया को बताएं कि आखिर कौन हैं उनके वो करीबी? कमलनाथ के सहयोगियों से हासिल नकदी मध्यप्रदेश में चलाए गए एक बड़े कथित भ्रष्टाचार घोटाले से जुड़ी थी। छिंडवाड़ा की जनता को छलने वाले कमलनाथ मध्यप्रदेश की जनता अपने इस घोटाले के बारे में भी बताएं। जांच एजेंसियों ने कमलनाथ के आधिकारिक आवास से एआईसीसी कार्यालय तक करोडों रुपये के धांधली की बात भी उजागर की है, जिसके बारे में भी कमलनाथ व जीतू पटवारी मध्यप्रदेश की जनता को बताएं?

खाते फ्रीज होने को लेकर जनता में भ्रम फैला रही कांग्रेस

उन्होंने कहा कि देश की हर राजनीतिक पार्टी के लिए उसकी आय उसे मिला हुआ चंदा ही होता है लेकिन इस आय पर छूट पाने के लिए हर दल को आयकर अधिनियम 13 (ए) की शर्तों को पूरा करना होता है। आयकर विभाग के अनुसार, कांग्रेस ने असेसमेंट वर्ष 2018-19 में अधिनियम 13 (ए) का उल्लंघन किया है। जिसके बाद कई नोटिस दिए गए, लेकिन कांग्रेस ने इन नोटिसों का अनदेखा किया। आयकर विभाग ने अधिनियम 226 (3) के तहत रिकवरी की प्रक्रिया शुरू की। रिकवरी की प्रक्रिया शुरू होने के बाद कांग्रेस ने पहले आयकर ट्रिब्यूनल और फिर उच्च न्यायालय में याचिका दायर की, लेकिन दोनों ही जगह उनकी याचिका खारिज कर दी गई। कांग्रेस आयकर विभाग द्वारा अपने खाते फ्रीज किए जाने के बयान देकर भ्रम फैला रही है, जबकि सच ये है कि सिर्फ देनदारी को रोका गया, बची हुई राशि पर कोई रोक नहीं है। उच्च न्यायालय से जब कांग्रेस को फटकार लगी तो ये लोग धरने पर उतर आए।

लूट करो, झूठ बोलो, पकड़े जाने पर विक्टिम बनो

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि परिवारवादी पार्टियों का चरित्र बन चुका है कि पहले लूट करो, फिर झूठ बोलो और पकड़े जाने पर विक्टिम बनो। यह पार्टियां संवैधानिक संस्थाओं पर अपनी लूट को छिपाने के लिए दबाव डालने का प्रयास करती हैं। कांग्रेस आयकर मामले में उच्च न्यायालय एवं अपील ट्रिब्युनल इन सभी से फटकार खाने के बाद भी देश की जनता को गुमराह करने के लिए झूठ का स्वांग रच रही है। देश की विचारवान जनता पहले भी कांग्रेस का यह झूठ अस्वीकार कर चुकी थी, इस बार पुनः करेगी। हर पार्टी का यह कर्तव्य है कि वो देश के सर्वोच्च संवैधानिक संस्थानों का सम्मान करे, लेकिन कांग्रेस पार्टी सदैव इन संस्थानों का अपमान करती आई है। देश की जनता यह समझ रही है कि कांग्रेस चुनाव में हार के डर से घबरा कर हताशा में ऐसा कर रही हैं।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story