मप्र विधानसभा: सदन में पांच विधेयक पारित, अनुदान मांगों पर चर्चा के दौरान हंगामा

WhatsApp Channel Join Now

भोपाल, 5 जुलाई (हि.स.)। मध्य प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पांचवे दिन शुक्रवार को सदन में कुल पांच विधेयक पारित किए गए हैं। सभी विधेयक पारित होने के बाद अनुदान मांगों पर चर्चा के दौरान हंगामा हो गया। संसदीय कार्य मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने प्रस्ताव रखा कि विभागवार अनुदान मांगों पर चर्चा करने की बजाय एक साथ सभी विभागों की अनुदान मांगों पर चर्चा की जाए। इस पर उन्होंने नेता प्रतिपक्ष की भी सहमति चाही। इसका नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने विरोध किया। अध्यक्ष ने बहुमत के आधार पर एक साथ चर्चा करने का फैसला लिया। इस पर कांग्रेसी सदन में विरोध करने लगे और शोर शराबे की स्थिति बन गई।

पशुपालन मंत्री लखन पटेल ने सदन को बताया कि बारिश के दौरान कई गाय दुर्घटनाग्रस्त हो जाती हैं। हमने हाइवे पर गायों की सुरक्षा के लिए कदम उठाया है। एमपी में शुरुवाती दौर में 6 जिलों में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया है। इन 6 जिलों में हम पशुपालकों को जागरूक कर रहे हैं। इसी तरह मध्य प्रदेश माल और सेवा कर संशोधन विधेयक भी पारित हुआ है। मध्य प्रदेश में खुले नलकूप ट्यूबवेल में इंसानों के गिरने से होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम एवं संशोधन विधेयक 2024 पारित हुआ है। इस मामले को नगरीय प्रशासन मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने सदन के पटल पर रखा और सर्वसम्मति से विधेयक पारित हुआ है। इसके अलावा सुधारात्मक सेवाएं एवं बन्दीगृह विधेयक सदन में पारित हो गया है। इसी तरह मंत्री वेतन तथा भत्ता संशोधन विधेयक 2024 और मध्यप्रदेश निजी विश्वविद्यालय स्थापना एवं संचालन संशोधन विधेयक 2024 भी विधानसभा में पारित हुआ है।

हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा// उमेद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story