उज्जैन: भोपाल में ट्रेन से उतारे गए किसानों ने शिप्रा स्नान कर महाकाल के दर्शन किए

उज्जैन, 13 फरवरी(हि. स.)। किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए कर्नाटक एक्सप्रेस से दिल्ली जा रहे किसानों को सोमवार को भोपाल में हिरासत में लिए गए 75 से अधिक किसानों को भोपाल पुलिस ने महाकाल दर्शन कराने का हवाला देकर मंगलवार सुबह भोपाल-उज्जैन ट्रेन से उज्जैन भेज दिया। उज्जैन पुलिस और जीआरपी ने रेलवे स्टेशन पर सभी किसानों को अभिरक्षा में लिया। कुछ देर बाद पुलिस वाहन में सभी को रामघाट और महाकाल दर्शन के लिए रवाना किया गया।

बताया जाता है कि कर्नाटक के किसान कर्नाटका एक्सप्रेस से किसान आंदोलन में भाग लेने के लिए दिल्ली जा रहे थे। सोमवार सुबह 4 बजे भोपाल पुलिस ने किसानों को भोपाल में उतार लिया और हिरासत में ले लिया। इन किसानों को भोपाल के अशोका गार्डन इलाके के मनभा मैरिज गार्डन में ठहराया गया था। इनमें 25 महिलाएं भी हैं। किसानों का कहना है कि उन्हें जबरदस्ती ट्रेन से उतार लिया गया। वापस कर्नाटक जाने के लिए कहा गया। धारवाड़ (कर्नाटक) के किसान नेता परशुराम ने बताया, हम दिल्ली जा रहे थे। भोपाल पुलिस ने सोमवार तड़के ट्रेन से उतार लिया। आज हम लोगों को ट्रेन में बैठाकर उज्जैन ले आए।

सुरक्षा के साथ भोजन, दर्शन के प्रबंध

भोपाल पुलिस मुख्यालय से दिशा-निर्देश के बाद उज्जैन पुलिस रेलवे स्टेशन पर जीआरपी के साथ अलर्ट पर थी। सीएसपी दीपिका शिंदे ने बताया कि सभी किसानों को पुलिस सुरक्षा में रखा गया है। मुख्यालय के निर्देशानुसार सभी को पुलिस वाहन में पहले रामघाट ले जाया गया है।

इसके बाद महाकाल दर्शन के लिए जाएंगे। इधर गिरफ्तार किसानों के भोपाल से उज्जैन आने की सुचना के बाद उज्जैन कांग्रेस के कई नेता भी रेलवे स्टेशन पहुंच गए। पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को किसानों से नहीं मिलने दिया। सीएसपी दीपिका शिंदे ने बताया कि शाम तक सभी किसानों को भोपाल या मुख्यालय के निर्देश अनुसार गंतव्य के लिए रवाना किया जाएगा।

हिंदुस्थान समाचार/ललित ज्वेल

/मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story