जबलपुरः रीजनल इंडस्ट्री कॉनक्लेव को सफल बनाने उद्यमियों ने दिखाई रूचि

WhatsApp Channel Join Now

- औद्योगिक विकास को लेकर उद्यमियों ने की प्रभावी पहल

जबलपुर, 4 जुलाई (हि.स.)। कलेक्टर दीपक सक्सेना ने रीजनल इंडस्ट्री कॉनक्लेव को प्रभावी बनाने के लिए गुरुवार को विभिन्न उद्यमियों व उद्योग संघों के पदाधिकारियों के साथ दो सत्रों में बैठक की। जिसमें प्रात: 11 बजे से 1.15 बजे तक एग्रीकल्चर एंड फूड प्रोसेसिंग, टेक्सटाइल एंड गारमेंट, माइनिंग और डिफेंस से जुडे़ उद्यमियों की बैठक कर आवश्यक चर्चा की। दूसरे सत्र शाम 4 बजे से शुरू हुआ जिसमें फर्नीचर, मिष्ठान, आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स तथा टूरिज्म इंडस्ट्री से जुड़े उद्यमियों से भी चर्चा की गई। इस दौरान निवेश, रोजगार और व्यापार की दिशा में आने वाली समस्याओं पर चर्चा कर उन्हें दूर करने के प्रयास करने को कहा।

नेताजी सुभाषचन्द्र बोस कल्चरल एंड इंफार्मेशन सेंटर में 20 जुलाई को आयोजित होने वाले रीजनल इंडस्ट्री कॉनक्लेव की सफलता के लिये सुझाव भी दिये। बैठक में कॉनक्लेव में भाग लेने के लिये उद्यमियों का रजिस्ट्रेशन भी कराया गया। अभी तक लगभग 300 उद्यमियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। कलेक्टर सक्सेना ने रीजनल इंडस्ट्री कॉनक्लेव में उद्यमियों की सहभागिता व रजिस्ट्रेशन के लिये बार कोड भी जारी किया है और कहा कि अधिक से अधिक उद्यमी अपना रजिस्ट्रेशन कराकर इंडस्ट्री कॉनक्लेव में सहभागिता करें। बैठक में जिला पंचायत की सीईओ जयति सिंह तथा एमपीआईडीसी के जीएम एसएस संधु, कार्यकारी संचालक सृष्टि प्रजापति, जीएमडीआईसी विनीत रजक सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

कॉनक्लेव की सफलता के लिये उद्यमियों ने इंडस्ट्रियल प्रमोशन पॉलिसी, सुविधाऐं और भूमि संबंधी विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई। साथ ही कहा गया कि औद्योगिक निवेश के लिये एक नोडल एजेंसी बनाई जाये, जिसमें ऑनलाईन पोर्टल के माध्यम से निवेश संबंधी सुविधाएं सुनिश्चित हों तथा समस्याओं का भी निराकरण हो। फूड पार्क बनाने की संभावनाओं पर ज्यादा जोर दिया गया। साथ ही मिल्क फार्मिंग को सशक्त करने को कहा। उद्यमियों ने कहा कि राईस मिलिंग के ऑफ सीजन में बिजली संबंधी समस्याओं का निदान सुनिश्चित किया जाये। डिफेंस सेक्टर में गुणवत्ता पर विशेष जोर दिया गया और कहा कि डिफेंस इंडस्ट्री जियो पॉलिटिकल सिनेरियो के साथ-साथ विदेश नीति के आधार पर संचालित होते है। अत: जबलपुर क्षेत्र में कटनी, इटारसी और जबलपुर के रक्षा संस्थानों के जीएम के साथ बैठकर इस दिशा में आवश्यक विचार किया जाये।

बैठक में उद्यमियों ने अपनी आवश्यकताऐं, समस्याऐं, सरकारी नीति, कुशल श्रमिक और सुविधाऐं आदि मुद्दों पर चर्चा किया। खनिज क्षेत्र में भी जबलपुर को हब बनाने के लिये विचार वियक्त किया गया। इसी प्रकार अलग-अलग सेक्टर के उद्यमियों ने अपने विचार रखकर जबलपुर में आयोजित होने वाले इस महत्वकांक्षी रीजनल इंडस्ट्री कॉनक्लेव को सफल बनाने का आग्रह किया।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/नेहा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story