खरगोनः किसानों को टोकन के माध्यम से ही होगा कपास बीज का वितरण

खरगोनः किसानों को टोकन के माध्यम से ही होगा कपास बीज का वितरण
खरगोनः किसानों को टोकन के माध्यम से ही होगा कपास बीज का वितरण


- अनियमितता पाये जाने पर विक्रेता के विरूद्ध होगी एफआईआर

खरगोन, 16 मई (हि.स.)। जिले में कपास बीज की विशेष किस्म की मांग को देखते हुए कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने गुरुवार को कृषि आदान विक्रेता संघ के अध्यक्ष एवं अन्य कृषि आदान विक्रेताओं के साथ बैठक कर इस संबंध में व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने समस्त थोक एवं खेरची बीज विक्रेताओं को स्पष्ट निर्देश दिये हैं कि कपास बीज वितरण में किसी भी प्रकार की अनियमितता या कालाबाजारी की जाती है तो उनके विरूद्ध तत्काल एफ.आई.आर. दर्ज करते हुए दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी।

बैठक में तय किया गया कि जिले के समस्त किसानों को कपास की किस्म विशेष का वितरण टोकन के माध्यम से ही किया जावेगा। वर्तमान में कपास बीज रासी सीड्स (659) एवं निजुवीडू सीड्स (आशा-1) कपास बीज की किस्म विशेष की मांग है। अगले चार से पांच दिनों में किस्म विशेष कपास बीज जिले के 19 थोक विक्रेताओं को प्राप्त मात्रा अनुसार संबंधित क्षेत्र (विकासखण्ड) में टोकन के माध्यम से एवं कृषक की पावती पर दर्ज करते हुए वितरण किया जाएगा। साथ ही जिले में प्राप्त किस्म विशेष की मात्रा अनुसार ही टोकन का वितरण किया जाएगा।

बैठक में निर्देशित किया गया कि कपास, बीज के थोक व खेरची विक्रेता के प्रति दिवस के स्टॉक की जांच की जाएगी। किसी विक्रेता द्वारा किसी भी प्रकार की अनियमितता की जाती है तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। सभी कपास बीज किस्म विशेष के थोक विक्रेता द्वारा बिना टोकन के कृषक को बीज प्रदाय नही किया जाएगा। किसानों से अपील की गई है कि जिले में अन्य कम्पनियों का अच्छा उत्पादन देने वाली किस्मों का कपास बीज पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है, जिसे पंजीकृत निजी विक्रेता से निर्धारित दर पर क्रय कर बुवाई करे।

बैठक में एसडीएम भास्कर गाचले, उपसंचालक कृषि एमएल चौहान, सहायक संचालक प्रकाश ठाकुर, कृषि आदान विक्रेता संघ के अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह चावला एवं अन्य कृषि आदान विक्रेता उपस्थित थे।

दरअसल, खरगोन में किसानों ने कपास का बीज नहीं मिलने के कारण नाराज होकर गुरुवार को भुसावल चित्तौड़गढ़ राजमार्ग पर अनाज मंडी के सामने चक्काजाम कर दिया था। जाम की सूचना मिलते ही मौके पर एएसपी तरुणेंद्र बघेल, एसडीएम भास्कर गाचले पुलिस बल के साथ पहुंचे थे। समझाइश के बाद किसानों ने जाम खोला। इसके बाद कलेक्टर ने उक्त व्यवस्था बनाई।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/नेहा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story