जबलपुरः कलेक्टर-एसपी ने लिया ग्वारीघाट पहुंचकर सुरक्षा इंतजामों का जायजा

जबलपुरः कलेक्टर-एसपी ने लिया ग्वारीघाट पहुंचकर सुरक्षा इंतजामों का जायजा
जबलपुरः कलेक्टर-एसपी ने लिया ग्वारीघाट पहुंचकर सुरक्षा इंतजामों का जायजा


- 15 फरवरी की शाम से उमाघाट पर प्रतिबंधित रहेगी आतिशबाजी

जबलपुर, 13 फरवरी (हि.स.)। नर्मदा जयंती पर ग्वारीघाट में मां नर्मदा के दर्शन करने बड़ी संख्या में आने वाले श्रृद्धालुओं के मद्देनजर किये जा रहे सुरक्षा इंतजामों का मंगलवार की शाम कलेक्टर दीपक सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों के साथ जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने ट्रेफिक प्लान से लेकर घाट पर की जा रही सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रशासन एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा की। नगर निगम आयुक्त प्रीति यादव, अपर कलेक्टर मिशा सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रियंका शुक्ला, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात प्रदीप शेंडे एवं एसडीएम गोरखपुर पंकज मिश्रा भी इस अवसर पर मौजूद थे।

कलेक्टर-एसपी ने नर्मदा जयंती पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्रॉपर बेरीकेटिंग करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने घाट पर मोटर वोट एवं सुरक्षा उपकरणों सहित गोताखारों को पर्याप्त संख्या में तैनात करने की हिदायत अधिकारियों को दी। इसके साथ ही महत्वपूर्ण सूचनाओं को प्रसारित करने के लिये समुचित संख्या में पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगाने पर जोर दिया तथा जगह-जगह चिकित्सा दलों को तैनात करने के निर्देश दिये।

नर्मदा जयंती पर व्यवस्थाओं का जायजा लेने ग्वारीघाट पहुंचे कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने झण्डा चौक से उमाघाट तक पैदल भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने स्पष्ट किया कि नर्मदा जयंती पर घाट पर भण्डारा लगाने और प्रसाद वितरण की किसी को अनुमति नहीं होगी। इसी प्रकार नर्मदा जंयती के पूर्व 15 फरवरी की रात घाट पर आतिशबाजी भी प्रतिबंधित रहेगी। उन्होंने अधिकारियों को इन निर्देशों को कड़ाई से पालन कराने के निर्देश भी दिये। अधिकारियों से कहा गया कि चिन्हित स्थलों के अलावा कहीं भी भंडारे लगाये पाये जायें तो उन्हें तत्काल हटा दिया जाये।

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने नर्मदा जयंती पर आवागमन को व्यवस्थित रखने तैयार किये गये ट्रेफिक प्लान का भी सख्ती से पालन कराने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि वाहन निर्धारित पार्किंग स्थल पर ही खड़े हों। बेरीकेटिंग इस तरह की जाये कि पैदल ही उमाघाट तक जाया जा सके।

कलेक्टर सक्सेना ने नर्मदा जयंती के एक दिन पूर्व 15 फरवरी की शाम सभी सुरक्षा इंतजामों का रिहर्सल करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि राजस्व पुलिस एवं नगर निगम का अमला एक दिन पूर्व पूरे क्षेत्र का भ्रमण करे और सुनिश्चित करे की व्यवस्थाओं एवं सुरक्षा इंतजामों में किसी तरह की कोई कमी न रहे। नर्मदा जयंती पर डीजे के नियंत्रित उपयोग के निर्देशों पर भी सख्ती से अमल करने की हिदायत उन्होंने अधिकारियों को दी। ताकि शोरगुल के कारण किसी भी तरह का व्यवधान पैदा न हो। उन्होंने प्रतिबंधों का उल्लंघन करने वालों पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये। सक्सेना ने ग्वारीघाट से भटौली की आरे जाने वाले मार्ग के कुछ हिस्से की मरम्मत कराने के निर्देश भी भ्रमण के दौरान दिये।

इस दौरान बताया गया कि नर्मदा जयंती के दिन शहर की ओर से ग्वारीघाट आने वाले दो पहिया एवं चार पहिया वाहन अवधपुरी नाके से होते हुये गेट नम्बर दो से दशहरा मैदान में पार्क होंगे। रेतनाका एवं अवधपुरी से आगे वाहनों का ग्वारीघाट क्षेत्र में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। यहां से पैदल चलकर ही उमाघाट जाया जा सकेगा। इसी प्रकार बिलहरी, तिलहरी और भटौली की ओर से आने वाले दो पहिया एवं चार पहिया वाहन गीताधाम के सामने के मैदान में पार्क किये जा सकेंगे।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story