जबलपुरः कलेक्टर ने नर्मदा जयंती समारोह की व्यवस्थाओं का किया निरीक्षण

जबलपुरः कलेक्टर ने नर्मदा जयंती समारोह की व्यवस्थाओं का किया निरीक्षण
जबलपुरः कलेक्टर ने नर्मदा जयंती समारोह की व्यवस्थाओं का किया निरीक्षण


जबलपुर, 11 फरवरी (हि.स.)। कलेक्टर दीपक सक्सेना रविवार को नर्मदा जयंती पर आयोजित होने वाले समारोह की व्यवस्थाओं को देखने के लिये रामपुर चौराहा पहुंचे। उन्होंने यहां यातायात व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुये कहा कि नर्मदा जयंती के दौरान श्रद्धालुओं को आने जाने में कोई असुविधा न हो।

कलेक्टर सक्सेना ने रेतनाका से आयुर्वेद कॉलेज होते हुये जिलहरी घाट तक पैदल भ्रमण किया और व्यवस्थाओं को देखा। इसके साथ ही उन्होंने सिद्ध घाट, उमाघाट, गौरीघाट, खारी घाट, झंडा चौक, तिलवाराघाट आदि स्थानों का निरीक्षण कर पब्लिक रूट, बेरीकेट, पार्किंग व सुरक्षा आदि व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को विशेष रूप से कहा कि नर्मदा जयंती के दौरान श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो। इसके लिये सभी संबंधित अधिकारी जिम्मेदारी से अपने दायित्वों का निर्वाहन करें।

कलेक्टर ने कहा कि रेतनाका एंव अवधपुरी से वाहनों का ग्वारीघाट क्षेत्र से प्रतिबंधित रहेगा। यहां से केवल पैदाल चलकर ही उमा घाट तक जाया जा सकेगा। वापसी के समय वाहनों को भटौली की तरफ से जाने की व्यवस्था की जायेगी। बेरिकेटिंग इस तरह से की जाये कि वाहन घाट और अवधपुरी की ओर वापस न लौट सकें। भटौली की तरफ़ से जाने वाले रास्ते की आवश्यकतानुसार रिपेयरिंग करवाई जाए। इस संबंध में पुलिस, नगर निगम एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि वाहनों को अवधपुरी से लेफ्ट टर्न कराकर आयुर्वेदिक कॉलेज ग्राउंड में पार्क किया जाएगा। यहाँ से श्रद्धालु पैदल उमा घाट तक जा सकेंगे। नगर निगम द्वारा जिलहरी की तरफ़ से जाने वाले रास्ते को ठीक कराया जाये। नगर निगम द्वारा उमा घाट पर लगने वाली दुकानों को हटाकर व्यवस्थित जगह बनाई जाये, ताकि घाट पर होने वाली भीड़ को नियंत्रित किया जा सके। उमा घाट पर भंडारा एवं अन्य कार्यक्रमों का आयोजन पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा।

कलेक्टर ने कहा कि एसडीएम और सीएसपी संबंधित व्यक्तियों से चर्चा कर यह सुनिश्चित करायेंगे। उन्होंने निर्देश दिये कि भंडारा का आयोजन केवल चयनित स्थानों पर ही किया जा सकेगा। सुरक्षा और आवागमन में अवरोध नहीं होने वाले भंडारा स्थानों को चिन्हित कर वहाँ मार्किंग की जाये। भंडारा के लिए टेंट और टेबल उपलब्ध कराने वाले टेंट हाउस संचालकों से चर्चा कर उन्हें ताकीद किया जाये कि वह केवल चयनित स्थानों पर ही भंडारा के लिये टेंट लगायें। टेंट का फेस सड़क की ओर नहीं रखकर साइड की ओर रखा जाये ताकि आवागमन सुचारू रूप से चलता रहे। सुबह से भंडारा लगाने वालों पर निगरानी रखी जाये और किसी भी स्थिति में चयनित स्थान से भिन्न स्थान पर भंडारा लगाने नहीं दिया जाये। इस संबंध में आवश्यक व्यवस्थाएँ पुलिस, नगर निगम एवं राजस्व विभाग द्वारा सुनिश्चित की जायें। क्षेत्र में निर्धारित सीमा से अधिक आवाज में लाउडस्पीकर और डीजे बजाना प्रतिबंधित होगा। इस संबंध में सतत समझाईश दी जाये। समझाईश के बाद भी उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध विधि अनुसार युक्तियुक्त कारवाई की जाये।

पुलिस के सुझाव अनुसार नगर निगम द्वारा क्षेत्र में पर्याप्त संख्या में पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगवायें जायें। इसके साथ ही क्रेन आदि की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जायें। झंडा चौक से उमा घाट की और जाने वाले रास्ते के बीच में नगर निगम द्वारा मज़बूत बेरिकेटिंग लगाई जाए, ताकि आने और जाने वाले लोगों के लिए पृथक्-पृथक् रास्ता रहे। लिटिल बर्ड स्कूल में निर्माण कार्य होने की वजह से तिलवाड़ा घाट क्षेत्र में पार्किंग के लिए नई व्यवस्था बनाना होगी। संपूर्ण क्षेत्र में लाइटिंग की समुचित व्यवस्था नगर निगम द्वारा सुनिश्चित की जायें। यातायात व्यवस्था, भंडारा व्यवस्था और लाउडस्पीकर डीजे व्यवस्था के संबंध में व्यापक प्रचार प्रसार किया जाये ताकि आम नागरिकों को कोई परेशानी ना हो। कलेक्टर ने कहा कि नगर निगम द्वारा आम लोगों को व्यवस्था संबंधी जानकारी के लिए पर्याप्त संख्या में साइन बोर्ड आदि लगवायें जायें। पब्लिक एड्रेस सिस्टम से एनाउंस करने की भी व्यवस्था की जाये। इस दौरान नगर निगम कमिश्नर प्रीती यादव, अपर कलेक्टर नाथूराम गौंड व अन्य अधिकारियों के साथ पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

हिन्दुस्थान समाचार/मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story