दतिया: स्कूलों में नियुक्त शिक्षक कर रहे बाबूगिरी, बच्‍चों की पढ़ाई प्रभावित

WhatsApp Channel Join Now

भांडेर, 9 जुलाई (हि.स.)। शासन द्वारा गैर शिक्षकीय कार्य में अटैच शिक्षकों का अटैचमेंट समाप्त करने के आदेश कुछ माह पहले जारी किए गए है, जिसके बाद भी शिक्षकों द्वारा बाबूगिरी का काम किया जा रहा है, जिससे स्कूलों में पढ़ाई तक प्रभावित हो रही है। अपनी शालाओं में सेवाएं देकर शाला में अध्यनरत छात्र-छात्राओं को ठीक से पढ़ाई कराई जा सके, जिससे रीजल्ट में सुधार आ सके। वहीं जिला स्तर के विभागीय अधिकारी प्रसाशन के आदेशों की खुलेआम अवहेलना करते नजर आ रहे हैं। भांडेर ब्लॉक में विकास खंड में कार्यालयों में शिक्षक अटैच कर दिए है।

कार्य प्रभावित - पांचवी और आठवीं की कक्षा भी बोर्ड परीक्षा हो गई है, इन कक्षाओं में पढ़ाने वाले शिक्षकों की ड्यूटी कार्यालयों में लगाने से शालाओं में शिक्षकीय कार्य प्रभावित हो रहा है। जिन शिक्षकों को कार्यालयों में अटैंचमेंट किया है, उनका कहना है कि उनकी सेवाएं स्कूलों में नहीं मिलने से स्कूलों में पढ़ाई प्रभावित होगी। जिसका ठीकरा भी शालाओं के शिक्षको पर ही फोड़ा जाएगा। वहीं इसी तरह विकास खंड में निर्वाचन के कार्य में लगे होने के कारण कई शिक्षक वर्षों से शालाओ में नहीं पहुंचे हैं।

वहीं कुछ शिक्षक जानबूझकर नहीं जाना चाहते -

बताया जा रहा है कि अटैच शिक्षकों में से कुछ शिक्षक जानबूछकर स्कूलों में वापस नहीं लौटना चाहते हैं। क्योंकि उन्हें अपने मूल कार्य से अधिक अच्छा काम बाबूगिरी लगता है जिसके चलते वे अपना अटैंचमेंट खत्म नहीं कराना चाह रहे हैं, जबकि जिला पंचायत सीईओ द्वारा भी विगत कुछ माह पहले समस्त अटैच शिक्षकों के अटैच मेंट समाप्त करने लिए डीईओ को निर्देश दिए थे। उक्त आदेशों पर आज तक अमल में नहीं हो पाया है। शिक्षकों के अटैच होने के चलते ग्रामीण क्षेत्रों की शालाओ में अध्यापन कार्य प्रभावित हो रहे हैं।

हिन्‍दुस्‍थान समाचार/संतोष

हिन्दुस्थान समाचार / राजू विश्वकर्मा / मुकेश तोमर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story