धारः वसंत पंचमी पर मां वाग्देवी के जयकारों से गूंजी भोजशाला, सरस्वती यज्ञ में हजारों लोगों ने दी आहुतियां



धार, 26 जनवरी (हि.स.)। मध्य प्रदेश के धार स्थित ऐतिसाहिक भोजशाला में गुरुवार को वसंत पंचमी का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। यहां सुबह सात बजे से भक्तों के आना का सिलसिला शुरू हो गया था। यहां मां वाग्देवी की आराधना के स्वर से पूरी भोजशाला परिसर गूंजायमान हो रहे हैं। हजारों लोग आराधना के साक्षी बने। राजा भोज और मां वाग्देवी के जयकारों के से पूरी भोजशाला गूंजायमान हो उठी। सुबह सात बजे मां सरस्वती यज्ञ प्रारंभ हुआ। इसमें हजारों लोगों ने आहूति दीं।

दरअसल, भोजशाला साल में केवल एक दिन वसंत पंचमी के दिन खुली रहती है। यहां वसंत पंचमी के दिन हिंदू समाज को सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक भोजशाला में प्रवेश की अनुमति होती है। साथ ही मां सरस्वती का तेल चित्र ले जाने के साथ ही धार्मिक आयोजन करने की अनुमति होती है। इस दिन का पूरे साल हिंदू समाज को इंतजार रहता है। गुरुवार को जैसे ही सूर्य उदय हुआ, भोजशाला में श्रद्धालुओं के आना का सिलसिला शुरू हो गया। यहां शाम तक हजारों लोग पहुंचकर मां वाग्देवी की पूजा कर यत्र में शामिल होंगे।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश / डा. मयंक

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story