उज्जैन: आंगनबाड़ी कार्यकताओं ने अपनी 11 सूत्री मांगों को लेकर किया प्रदर्शन



उज्जैन, 24 जनवरी (हि.स.)। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव को करीब 9 माह शेष है। इस बीच विभिन्न मजदूर संघों द्वारा अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन का दौर शहर में जारी है। मंगलवार को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन किया। 11 सूत्री मांगे नहीं मानी जाने पर प्रदर्शन तेज करने की चेतावनी भी दी।

प्रदेश के महिला एवं बाल विकास विभाग के अन्तर्गत कार्यरत आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाओं शासन के समक्ष मांग रखी है कि-

* उन्हें शासकीय कर्मचारी घोषित किया जाए।

* सभी शासकीय सुविधाओं का लाभ प्रदान किया जाए। * प्रदेश सरकार द्वारा घोषित 1500 रू. एरियर्स के साथ वेतन भुगतान किया जाए।

* राज्य सरकार,केन्द्र सरकार से समन्वय कर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका / की नियुक्ति प्रक्रिया के नियमों में संशोधन करे।

* मानदेय की जगह नियमित और सीधी भर्ती की जाए। जब तक नियुक्ति प्रक्रिया में संशोधन नहीं किया जाता है तब तक मानदेय के अतिरिक्त केन्द्र के निर्धारित मंहगाई भत्ते को लागू कर भुगतान किया जाए।

* सभी को विभाग की ओर से कम से कम 50 हजार रू. का स्वास्थ्य बीमा कराया जाए।

* सभी को आयुष्मान योजना की पात्रता में शामिल किया जाए एवं ग्रेजुटी की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

* महिला बाल विकास विभाग के कार्यो के अतिरिक्त किसी भी अन्य कार्य में ड्यूटी न लगाई जाए।

* महिला एवं बाल विकास विभाग से प्रत्येक मद में प्राप्त राशि और पोषण/खेल/स्वास्थ्य सम्बन्धित सभी सामग्री उनके केन्द्रो पर समय सीमा में उपलब्ध कराई जाए।

* विभागीय ऐप पोषण और सम्पर्क एप को मर्ज करके एक ही ऐप से कार्य कराये जाए।

* आंगनवाडी केन्द्रों के लिये ज्यादा से ज्यादा भवन उपलब्ध करये जायें और जो भवन किराये के भवनों में संचालित हो रहे उनका किराया वर्तमान स्थिति के आधार पर बढ़ाकर प्रदान किया जाए।

हिन्दुस्थान समाचार/ ललित ज्वेल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story