ग्वालियर: बुधवार को भोर होते ही बरसे मेघ,13 मिलीमीटर गिरा पानी



-दिन व रात के तापमान में रह गया मात्र 2.7 डिग्री का अंतर

ग्वालियर, 25 जनवरी (हि.स.)। पिछले पांच दिनों से घुमड़ रहे मेघ बुधवार को भोर होते ही बरस गए। इस दौरान शहर में 13 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। यह बारिश रबी फसलों के लिए अमृत वर्षा बताई जा रही है। दिन में धूप नहीं निकलने से ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। आज दिन व रात के तापमान में मात्र 2.7 डिग्री सेल्सियस का अंतर रह गया। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि 28 जनवरी तक मौसम इसी प्रकार बना रहेगा। अगले 24 घंटे के दौरान भी ग्वालियर सहित आसपास के क्षेत्रों में बारिश हो सकती है।

ग्वालियर-चंबल के आसमान में 19 जनवरी से बादल छाए हुए हैं। पिछले तीन दिन से छुटपुट बूंदाबांदी भी हो रही थी, लेकिन मंगलवार रात करीब 12 बजे से मौसम ने करवट बदली और बूंदांबांदी शुरू हो गई। बुधवार को तड़के लगभग साढ़े पांच से नौ बजे तक रुक-रुककर कभी हल्की तो कभी मध्यम गति से बारिश हुई। इसके बाद दिन में एक बार भी सूरज के दर्शन नहीं हुए। साथ ही ठंडी हवाएं भी चलती रहीं। इस वजह से पिछले दिन की अपेक्षा आज अधिकतम तापमान 5.7 डिग्री सेल्सियस लुढ़कर 17.7 डिग्री सेल्सियस पर ही ठहर गया, जो औसत से 5.7 डिग्री सेल्सियस कम है, जबकि न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस बढ़कर 15.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 8.0 डिग्री सेल्सियस अधिक है। आज सुबह हवा में नमी 94 और शाम को 98 प्रतिशत दर्ज की गई।

मौसम विभाग के अनुसार वर्तमान में उत्तरी पाकिस्तान और उससे सटे जम्मू-कश्मीर में चक्रवाती परिसंचरण के रूप में पश्चिमी विक्षोभ, पंजाब में प्रेरित चक्रवात, पंजाब से पूर्वी राजस्थान और मध्यप्रदेश होते हुए विदर्भ तक एक द्रोणिका लाइन भी बनी हुई है। इन तीन मौसम प्रणाणियों के संयुक्त प्रभाव से ग्वालियर-चंबल सहित मध्यप्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है। बुधवार को ग्वालियर-चंबल के अधिकांश क्षेत्रों में कहीं हल्की तो कहीं मध्यम बारिश हुई। भिण्ड जिले के गोहद क्षेत्र में आवावृष्टि भी हुई है। अगले 24 घंटे के दौरान भी कहीं हल्की तो कहीं मध्यम बारिश हो सकती है है। मौसम विभाग के अनुसार अंचल में 28 जनवरी तक बादल छाए रहने के साथ बारिश की संभावना बनी हुई है।

हिन्दुस्थान समाचार/शरद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story