ग्वालियर: देश के सबसे ठंडे मैदानी क्षेत्रों में ग्वालियर 12वें नम्बर पर

ग्वालियर: देश के सबसे ठंडे मैदानी क्षेत्रों में ग्वालियर 12वें नम्बर पर


ग्वालियर, 25 नवंबर (हि.स.)। पश्चिमी विक्षोभ के जाते ही राजस्थान से लेकर ग्वालियर-चम्बल संभाग सहित मध्यप्रदेश में ठंड बढऩे लगी है। शुक्रवार को देश के सबसे ठंडे मैदानी क्षेत्रों में 8.3 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ ग्वालियर 12वें नम्बर पर रहा।

मौसम विभाग के अनुसार राजस्थान के चुरू में न्यूनतम तापमान 4.0 और मध्यप्रदेश के नौगांव में 6.0 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। मौसम विज्ञानियों का पूर्वानुमान है कि ग्वालियर में उत्तर से आ रहीं हवाओं के प्रभाव से शनिवार को न्यूनतम तापमान में और गिरावट हो सकती है।

स्थानीय मौसम वैज्ञानिक सीके उपाध्याय ने बताया कि पिछले दिनों पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में हुई बर्फबारी का असर ग्वालियर-चम्बल अंचल में भी दिख रहा है। उत्तर से आ रहीं शुष्क और ठंडी हवाओं की वजह से यहां रात के तापमान में काफी गिरावट हुई है। हालांकि वर्तमान में राजस्थान के ऊपर एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। इस कारण फिलहाल रात के तापमान में आंशिक गिरावट होगी। अगले दो से तीन दिन बाद प्रति चक्रवात समाप्त होने के उपरांत रात के साथ दिन के तापमान में भी तेजी से गिरावट होगी। जिससे ठंड का प्रकोप और बढ़ेगा।

स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार पिछले दिन की अपेक्षा शुक्रवार को अधिकतम तापमान 0.1 डिग्री सेल्सियस आंशिक गिरावट के साथ 28.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 1.0 डिग्री सेल्सियस अधिक है। न्यूनतम तापमान भी 01 डिग्री सेल्सियस आंशिक गिरावट के साथ 8.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 2.3 डिग्री सेल्सियस कम है। आज सुबह हवा में नमी 90 और शाम को 63 प्रतिशत दर्ज की गई।

हिन्दुस्थान समाचार/शरद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story