भोपालः सिंचाई विभाग का क्लर्क 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार

भोपालः सिंचाई विभाग का क्लर्क 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार


भोपाल, 22 सितंबर (हि.स.)। राजधानी भोपाल में लोकायुक्त पुलिस की टीम ने सिंचाई विभाग कोलार के कार्यपालन यंत्री कार्यालय में स्थापना शाखा प्रभारी (क्लर्क) को 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त पुलिस ने यह कार्रवाई एमपी नगर जोन-1 स्थित मिलन रेस्टोरेंट में की। बताया गया है कि आरोपित ने मृत हो चुकी कर्मचारी के बेटे से जीपीएफ समेत अन्य भुगतान के लिए रिश्वत की मांग की थी, जिसकी शिकायत मिलने के बाद लोकायुक्त पुलिस ने योजनाबद्ध तरीके से कार्रवाई को अंजाम दिया।

लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक जवाहर चौक इलाके में रहने वाले सिद्धार्थ सक्सेना ने गत 20 सितंबर को लोकायुक्त एसपी कार्यालय में लिखित शिकायत की थी, जिसमें उन्होंने बताया था कि उनकी मां नीना सक्सेना कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार रोड भोपाल कार्यालय में ट्रेसर के पद पर पदस्थ थीं, जिनकी मृत्यु जून 2021 में हो गई। आवेदक ने बताया है कि उसकी मां ने सर्विस रिकार्ड में आवेदक को ही नामिनी बनाया है। जब आवेदक ने अपनी स्वर्गीय मां के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए उनके कार्यालय में आवेदन दिया तो वहां पदस्थ स्थापना प्रभारी जीके पिल्लई ने भुगतान के बदले में आवेदक से 40 हजार रुपये रिश्वत की मांग की। लोकायुक्त पुलिस ने शिकायत का सत्यापन कराया और शिकायत की पुष्टि होने के बाद आरोपित को रंगेहाथों पकड़ने की योजना बनाई गई।

योजना के अनुसार, फरियादी सिद्धार्थ सक्सेना ने गुरुवार को स्थापना प्रभारी जीके पिल्लई (उम्र 55 साल) को मिलने के लिए एमपी नगर जोन-1 स्थित मिलन रेस्तरां में बुलाया और उसे जैसे ही रिश्वत के 40 हजार रुपये दिए, उसी समय लोकायुक्त पुलिस की 10 सदस्यीय टीम ने दबिश देकर उसे रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। फिलहाल लोकायुक्त की कार्रवाई जारी है। उसके घर पर भी तलाशी ली जा रही है।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश / डा. मयंक

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story