सागर: पुलिस पर तेजाब से हमला करने वालों को आजीवन कारावास

सागर: पुलिस पर तेजाब से हमला करने वालों को आजीवन कारावास


सागर, 24 नवंबर (हि.स.)। पुलिस पर तेजाब से हमला करने वाले आरोपियों को न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। मामला कोतवाली थाना क्षेत्र में गणेश घाट स्थित आरोपी के घर का वर्ष 2019 का है।

जिला अभियोजन सागर के मीडिया प्रभारी सौरभ डिम्हा ने गुरुवार को बताया कि थाना कोतवाली में सहायक उपनिरीक्षक के पद पर पदस्थ अनुसूचित जनजाति का सदस्य फरियादी अनिल कुजूर को अभियुक्त योगेश कुमार सोनी वल्द श्याम बिहारी सोनी का कुटुम्ब न्यायालय के विविध आपराधिक प्रकरण 30 सितंबर 2019 का वसूली/गिरफ्तारी वारण्ट तामीली हेतु थाना प्रभारी द्वारा तामीली हेतु दिया गया। जिसकी तामीली के लिए घटना 29 सितंबर.2019 को फरियादी सहायक उपनिरीक्षक अनिल कुजूर थाने से आरक्षक 331 राजेश पांडे को हमराह लेकर वारण्टी योगेश सोनी के निवास गनेश घाट गया। घर पहुंचकर अभियुक्त योगेश सोनी के पिता अभियुक्त श्याम बिहारी को अभियुक्त योगेश सोनी का वारण्ट दिखाकर यह बताया कि अभियुक्त योगेश सोनी का वसूली वारण्ट है और उसे यह पक्की खबर है कि अभियुक्त योगेश सोनी घर में ही है, जिसे लाकर पेश किया जावे या वसूली वारण्ट की राशि 1,28,000/-रुपये अदा किए जाए। इसी बीच अभियुक्ता राधारानी एवं अभियुक्ता कृष्णा सोनी आ गये और तीनों द्वारा यह कहा गया कि अभियुक्त योगेश सोनी घर पर नहीं है, जिस पर फरियादी अनिल कुजूर ने उनसे मकान की तलाशी लेने की बात कही तो अभियुक्तगण श्याम बिहारी, राधारानी एवं कृष्णा अड़ गये और उन्होंने फरियादी को घर में जाने से मना किया तथा कोई सहयोग नहीं किया।

सहायक उपनिरीक्षक अनिल कुजूर ने, हमराह आरक्षक राजेश पांडे को वारण्टी अभियुक्त योगेश सोनी पर निगाह रखने की कहते हुए थाना कोतवाली से पुलिस बल लेने के लिए गया। फरियादी अनिल कुजूर ने उपनिरीक्षक हरिनाथ मिश्रा को सारे हालात बताये और फिर वह उपनिरीक्षक हरिनाथ मिश्रा और उसके हमराह बल को लेकर वारण्टी अभियुक्त योगेश सोनी के निवास पर पहुंचा, उस समय अभियुक्त योगेश के माता पिता और भाभी दरवाजे पर थे। तीनों पुलिस बल के साथ झूमाझटकी करने लगे। इसी बीच अभियुक्त योगेश सोनी ने वहीं रखी कांच की बोतल हाथ में उठा ली और कहा कि बोतल में एसिड भरा हुआ है। अभियुक्त योगेश सोनी गंदी गंदी गालियां देने लगा और उसने एसिड उसके उपर फेंक दी, जिस पर फरियादी अनिल कुजूर बचने के लिए झुका, किंतु जिस पर उसका सिर गर्दन, कान, सीना, पीठ, कमर पर एसिड गिरा, जिससे उसकी वर्दी वाली शर्ट और बनियान जल गयी तथा उसे तेज जलन होने लगी, तभी उसकी मदद के लिए उपनिरीक्षक हरिनाथ मिश्रा, आरक्षक राजेश पांडे, महिला आरक्षक शशि शिल्पी पहुंचे तो अभियुक्त योगेश सोनी के बचाव में अभियुक्तगण श्यामबिहारी, राधारानी और कृष्णा सोनी उनके साथ झूमाझटकी कर रोकने लगे। फेंके गये एसिड के छीटे उसके तथा हमराह स्टाफ आरक्षक राजेश पांडे, महिला आरक्षक शशि के उपर भी पड़े, जिससे उन सभी को भी एसिड से क्षति कारित हुई, इसके बावजूद भी अभियुक्त योगेश कुमार सोनी भागने का प्रयास करता रहा, किंतु उसे भागने नहीं दिया और पकड़ लिया गया। थाने पर प्रकरण पंजीबद्ध कर मामला विवेचना में लिया गया था।

हिन्दुस्थान समाचार/विष्णु सोनी

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story