हरदा पटाखा फैक्ट्री विस्फोट के आरोपितों की 19 संपत्तियां हुई नीलाम

हरदा पटाखा फैक्ट्री विस्फोट के आरोपितों की 19 संपत्तियां हुई नीलाम
हरदा पटाखा फैक्ट्री विस्फोट के आरोपितों की 19 संपत्तियां हुई नीलाम


- 70 लाख की संपत्ति के मिले 2.5 करोड़, 20 से अधिक लोगों ने बोली लगाई

हरदा, 2 अप्रैल (हि.स.)। हरदा जिला मुख्यालय स्थित तहसील कार्यालय में मंगलवार को बीती छह फरवरी को पटाखा फैक्ट्री विस्फोट मामले के आरोपित सोमेश व राजेश अग्रवाल की संपत्तियों को सार्वजनिक नीलामी की गई। तहसील परिसर में तीन टेबलों पर नीलामी की प्रक्रिया शुरू की गई। जिसमें एक टेबल पर ग्राम बैरागढ़ की 22, दूसरे टेबल पर ग्राम रहटाखुर्द की तीन व तीसरे टेबल पर हरदा खास नजूल के तहत आने वाला आरोपियों का पुरानी सब्जी मंडी के मकान की बोली लगाई गई।

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश के पालन में यह नीलामी की गई। तहसीलदार न्यायालय के परिसर बैरागढ़ पटाखा फैक्ट्री ब्लास्ट के आरोपित राजेश पुत्र नंदलाल एवं सोमेश पुत्र नंदलाल अग्रवाल की संपत्तियों की नीलामी की कार्यवाही सम्पन्न हुई। कलेक्टर आदित्य सिंह ने बताया कि दोनों आरोपितों की अचल सम्पत्ति की कुल 24 खसरा नंबर है, जिसका शासकीय गाइडलाइन अनुसार कुल मूल्य 69 लाख 41 हजार 984 रुपये है। इसके विरुद्ध 2 करोड़ 65 लाख 42 हजार रुपये की उच्चतम बोली प्राप्त हुई।

उन्होंने बताया कि आरोपितों की अचल सम्पत्ति में से दो खसरे ग्राम रहटाखुर्द में खसरा नंबर 160/18 तथा वार्ड 5 हरदा में स्थित नजूल सीट क्रमांक 10 बी प्लाट नंबर 74 के विरुद्ध कोई भी बोलीदार द्वारा बोली नहीं लगाई गई। इस अचल सम्पत्ति का शासकीय गाइडलाइन अनुसार मूल्य 1 करोड़ 54 लाख 85 हजार 875 रुपये है तथा बाजार मूल्य लगभग 3 करोड़ 99 लाख 50 हजार रुपये है।

कलेक्टर सिंह ने बताया कि जिस सम्पत्ति की मंगलवार को बोली नहीं लगाई गई उसकी नीलामी की कार्यवाही आगामी 7 दिवस में फिर से की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिन भूमियों पर उच्चतम बोली प्राप्त हो गई है उसे जिला स्तर पर गठित दल की ओर अनुमोदन के लिए भेजा जाएगा। दल से स्वीकृति प्राप्त कर नियम अनुसार आगामी कार्यवाही की जाएगी।

सात आरोपितों को किया है गिरफ्तार

गौरतलब है कि हरदा के बैरागढ़ स्थित अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के बाद भीषण आग लग गई थी। इस हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि पौने दो से ज्यादा लोग घायल हुए थे। मामले में सात आरोपित पूर्व में गिरफ्तार किया जा चुके हैं। इनमें राजू उर्फ राजेश अग्रवाल (55 वर्ष) पुत्र नंदलाल अग्रवाल निवासी वार्ड 2 पुरानी सब्जी मंडी मानपुरा हरदा, सोमेश अग्रवाल (42 वर्ष) पुत्र नंदलाल अग्रवाल निवासी वार्ड 2 पुरानी सब्जी मंडी मानपुरा हरदा, मन्नी उर्फ रफीक खान (54 वर्ष) निवासी मानपुरा हरदा, आशीष (35 वर्ष) पुत्र राधाकिशन तमखाने जाति कहार निवासी खेडीपुरा हरदा, अमन तमखाने (31 वर्ष) पुत्र राधाकिशन तमखाने निवासी खेडीपुरा हरदा, अभिषेक अग्रवाल (34 वर्ष) पिता अशोक अग्रवाल निवासी नर्मदा कालोनी वार्ड क्रमाक एक खातेगांव जिला देवास तथा आयुष गर्ग निवासी अजनास रोड़ खातेगांव जिला देवास शामिल हैं।

परिवारों के पुनर्वास की आवश्यक व्यवस्थाएं की जाए

कलेक्टर सिंह ने एक दिन पहले कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक ली थी। इसमें उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि गत फरवरी माह में ग्राम बैरागढ़ में हुए विस्फोट से प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के लिए सभी जरूरी इंतजाम किए जाएं। उन्होंने पीड़ित परिवारों के लिए आईटीआई हरदा में बनाए गए आश्रय स्थल में रहने वाले परिवारों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं करने के लिए भी कहा। बैठक में अपर कलेक्टर डा नागार्जुन बी. गोड़ा, एसडीएम हरदा कुमार सानू, संयुक्त कलेक्टर सतीश राय व डिप्टी कलेक्टर शिवांगी बघेल सहित अन्य विभागीय अधिकारी भी मौजूद थे।

कलेक्टर सिंह ने बैरागढ़ विस्फोट के बाद जब्त की गई विस्फोटक सामग्री के विनष्टीकरण के लिए विधिवत प्रक्रिया अपनाते हुए विनष्टीकरण की कार्यवाही करने के निर्देश भी बैठक में दिए। उन्होंने घटना के लिए दोषी व्यक्तियों को दंडित करने के लिए अब तक की गई कार्यवाही के संबंध में भी जानकारी ली।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story