झाबुआ; हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया शीतला सप्तमी पर्व, आधी रात से शुरू हुआ पूजन का सिलसिला

झाबुआ; 1 अप्रैल (हि.स.)। चैत्र कृष्ण पक्ष सप्तमी तिथि पर परंपरागत रूप से मनाया जाने वाला महान् धार्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व का पर्व सीतला सप्तमी सोमवार को संपूर्ण जिले में हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। बड़ी संख्या में महिलाओं द्वारा शीतला माता पूजन अर्चन का सिलसिला मध्य रात्रि से ही शुरू हो गया था, जो शाम तक जारी रहा। इस धार्मिक पर्व पर विभिन्न स्थानों पर शीतला देवी मंदिरों में व्यापक रूप से तैयारियां की गई एवं आकर्षक साज सज्जा कर स्थापित प्रतिमा को श्रृंगारित किया गया। इस अवसर पर रविवार शाम से ही धार्मिक आयोजनों की शुरुआत कर दी गई थी, जो सोमवार देर शाम संपूर्णता को प्राप्त होगी।

जिला मुख्यालय के छोटे तालाब के समीप स्थित प्राचीन शीतला देवी मंदिर सहित गोपाल कालोनी एवं डीआरपी लाइन स्थित मंदिर, थांदला नगर के पश्चिमी क्षेत्र में स्थित राज्य कालीन शीतला माता मंदिर सहित जिले के पेटलावद, रानापुर मेघनगर एवं अन्य नगरीय और ग्रामीण इलाकों में स्थित मंदिरों में बड़ी संख्या में महिलाएं पहुंची और पूजन अर्चन कर देवी को परंपरागत रूप से बनाए गए विविध भोज्य पदार्थ समर्पित किए। जिले के थान्दला में इस अवसर पर प्रजापति समाज द्वारा रविवार शाम से ही धार्मिक आयोजनों की शुरुआत कर दी गई थी। रविवार शाम को जुलुस के रूप में माताजी का अधिष्ठान मंदिर पर लाया गया। यहां रात नौ बजे से भक्त मलुकदास रामायण मंडल द्वारा श्रीराम चरित मानस के सुंदरकांड का संगीतमय पाठ का आयोजन भी रखा गया था। यह आयोजन मध्य रात्रि तक जारी रहा, और इसके तुरंत बाद महिलाओं द्वारा पूजन विधान आरम्भ कर दिया गया, जो अनवरत रूप से आज सोमवार को दोपहर तक जारी है। आज शाम प्रजापति समाज द्वारा माताजी का अधिष्ठान जुलुस के रूप में अपने स्थान पर ले जाया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ डॉ. उमेशचन्द्र शर्मा/मुकेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story