बिरसा मुंडा जैसे महान बलिदानियों के कारण ही आज हम आजाद हैं: कालीचरण मुंडा

बिरसा मुंडा जैसे महान बलिदानियों के कारण ही आज हम आजाद हैं: कालीचरण मुंडा
बिरसा मुंडा जैसे महान बलिदानियों के कारण ही आज हम आजाद हैं: कालीचरण मुंडा


खूंटी, 9 जून (हि.स.)। खूंटी के सांसद कालीचरण मुंडा ने स्वतंत्रता सेनानी और लोक नायक भगवान बिरसा मुंडा के शहादत दिवस पर उनके ननीहाल अड़की प्रखंड के चलकद गांव में रविवार को उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। मौके पर चलकद समेत पहाड़ी इलाके में बसे विभिन्न गांवों से सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण चलकद पहुंचे।

श्रद्धांजलि कार्यक्रम के उपरांत ग्रामीणों ने सांसद बनने के बाद पहली बार चलकद पहुंचने पर कालीचरण मुंडा का ढ़ोल-नगाड़ों के साथ पारंपरिक ढ़ंग से स्वागत किया। चलकद के ग्रामप्रधान अब्रहाम मुंडू की अध्यक्षता में एक सभा हुई, जिसमें कालीचरण मुंडा ने कहा कि यह भूमि भगवान बिरसा मुंडा की है। बिरसा मुंडा ने आदिवासियों के जल, जंगल और जमीन की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी। महज 25 वर्ष की आयु में ही अपना सर्वस्व बलिदान करने वाले बिरसा मुंडा जैसे महान बलिदानियों के कारण ही आज हम आजाद हैं। सांसद ने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा ने संसाधनों के अभाव के बावजूद लोगो को जिस तरह से एकत्रित कर अंग्रेजों से लोहा लिया, वह हम सब के लिए प्रेरणास्रोत है।

उन्होंने कहा कि आजादी व आदिवासियों के जीने का सहारा जल, जंगल, जमीन के अधिकार के लिए संघर्ष करने वाले घरती आबा के अधूरे सपनों को पूरा करने का काम हमें करना है। उनके साहस, समर्पण और बलिदान प्रत्येक भारतीय को सदैव प्रेरित करता रहेगा। धरती आबा ने अस्मिता, स्वायतत्ता और संस्कृति को बचाने के लिए अंग्रेजों के खिलाफ स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल फूंका।

हिन्दुस्थान समाचार/ अनिल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story