लोगों की ज़रूरतों को पूरा करने वाले टिकाऊ और सुरक्षित शहर बनाने का उपराज्यपाल ने किया आह्वान



श्रीनगर, 4 जुलाई (हि.स.)। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने गुरुवार को नगर योजनाकारों और विशेषज्ञों से लोगों की ज़रूरतों को पूरा करने वाले टिकाऊ और सुरक्षित शहर बनाने का आह्वान किया।

शहरी नियोजन पर उच्च स्तरीय समिति (आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय) भारत के श्रीनगर सम्मेलन को संबोधित करते हुए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने नगर योजनाकारों, शहरी डिजाइनरों और विशेषज्ञों से भविष्य के लिए तैयार शहरों के निर्माण पर ध्यान केंद्रित करने का आह्वान किया।

उपराज्यपाल ने कहा कि चरम मौसम की घटनाओं, जलवायु परिवर्तन के प्रभाव और अप्रत्याशित मौसम पैटर्न को देखते हुए भविष्य के लिए तैयार शहरों के लिए लचीले शहरी नियोजन पर ध्यान केंद्रित करना अनिवार्य है। सभी राज्यों और शहरी योजनाकारों के साथ दो दिवसीय विचार-विमर्श और सिफारिशें देश में शहरी नियोजन में सुधार पर समिति की अंतिम रिपोर्ट तैयार करने में मदद करेंगी।

सिन्हा ने कहा कि हमारा प्राथमिक उद्देश्य टिकाऊ, समावेशी, लचीले और सुरक्षित शहरों का निर्माण करना है जो लोगों की ज़रूरतों को पूरा करें और आर्थिक, सामाजिक और जलवायु चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने में सक्षम हों। उन्होंने कहा कि शहरी क्षमता को अनलॉक करने के लिए हमें हितधारकों और समुदाय के सामूहिक प्रयासों की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमारे शहर देश के विकास इंजन हैं और नागरिकों के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उपराज्यपाल ने कहा कि बढ़ता शहरीकरण बढ़ती आकांक्षा को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि शहरी नियोजन टिकाऊ बुनियादी ढांचे का निर्माण करने और निवासियों को समृद्ध बनाने में सक्षम होना चाहिए।

हिन्दुस्थान समाचार/बलवान

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story