बांस फर्नीचर को बढ़ावा देने के लिए परिवर्तनकारी प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू

बांस फर्नीचर को बढ़ावा देने के लिए परिवर्तनकारी प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू
बांस फर्नीचर को बढ़ावा देने के लिए परिवर्तनकारी प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू


कठुआ 13 फरवरी (हि.स.)। हस्तशिल्प और हथकरघा जम्मू के निदेशक सूरज प्रकाश रुकवाल ने कठुआ के सल्लन कॉमन फैसिलिटी सेंटर में बांस के फर्नीचर बनाने में परिवर्तनकारी एक महीने के प्रशिक्षण कार्यक्रम का नेतृत्व किया।

हथकरघा और हस्तशिल्प निदेशालय जम्मू द्वारा प्रायोजित और उत्तर पूर्व बेंत बांस विकास परिषद आसा द्वारा आयोजित इस पहल का उद्देश्य कठुआ जिले के 25 कारीगरों को बांस शिल्प कौशल के साथ सशक्त बनाना है। इस कार्यक्रम में कॉमन फैसिलिटी सेंटर का गहन निरीक्षण किया गया जो निकट भविष्य में बांस शिल्प में उत्कृष्टता केंद्र के रूप में उभरने के लिए तैयार है। निरीक्षण के अलावा प्रतिनिधिमंडल ने स्थानीय स्तर पर बने उत्पादों को बढ़ावा देने और प्रदर्शित करने के महत्व को रेखांकित करते हुए हीरानगर कठुआ में हथकरघा और हस्तशिल्प के बिक्री आउटलेट का भी दौरा किया। कार्यक्रम के दौरान निदेशक ने कई कारीगरों को बांस टूल किट देकर सम्मानित किया। उन्होंने जागरूकता बढ़ाने और कारीगरों को सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से विभिन्न विभागीय योजनाओं पर भी प्रकाश डाला। निदेशक ने कहा कि विभाग के लगातार प्रयासों ने सल्लन में बांस के लिए सामान्य सुविधा केंद्र और बिलावर में अगरबती के लिए सीएफसी की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। दोनों सुविधाएं जल्द ही चालू होने वाली हैं, जिससे जिले में हस्तशिल्प क्षेत्र को महत्वपूर्ण बढ़ावा मिलेगा। इस अवसर पर संयुक्त निदेशक हस्तशिल्प तिलक राज थापा, उप निदेशक योजना मेगा बोइगा और एडी हस्तशिल्प कठुआ प्रदीप शान सहित प्रमुख अधिकारी उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story