भारतीय शिक्षण मंडल ने कथाकार मालती जोशी को दी श्रद्धांजलि

जम्मू, 16 मई (हि.स.)। पद्मश्री से अलंकृत लोकप्रिय कथाकार मालती जोशी के आकस्मिक निधन पर भारतीय शिक्षण मंडल, जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख प्रान्त के अध्यक्ष एवं जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलगुरु प्रो. संजीव जैन की अध्यक्षता में शोकसभा का आयोजन किया गया। गौरतलब है कि कथाकार मालती जोशी का स्वर्गवास 90 वर्ष की आयु में वीरवार को दिल्ली में हुआ।

मालती जोशी अपने पीछे दो पुत्रों ऋषिकेश और सच्चिदानंद जोशी, अध्यक्ष, अखिल भारतीय शिक्षण मंडल के साथ भरापूरा परिवार छोड़ गयी हैं। जोशी पिछले कुछ समय से कैंसर से पीड़ित थीं। हिन्दी और मराठी भाषाओं में पचास से अधिक कथा संग्रहों की लेखिका मालती जोशी, शिवानी के बाद हिन्दी की सबसे लोकप्रिय कथाकार मानी जाती हैं। उन्हें अपनी कथोपथन की विशिष्ट शैली के लिए प्रसिद्धि प्राप्त है। उनके साहित्य पर देश के अनेक विश्वविद्यालयों में शोधकार्य हुए हैं।

कुलपति प्रो. संजीव जैन ने शोक सन्देश का वचन करते हुए कहा कि इस असहनीय दुःख की घड़ी में हम सभी उनके परिवार के प्रति अपनी गहरी अश्रुपूरित संवेदना व्यक्त करते हुए ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि पूरे परिवार को इस असहनीय दुःख को सहन करने की शक्ति दें तथा दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें। इस अवसर पर भारतीय शिक्षण मंडल, जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख प्रान्त के कार्यकारिणी सदस्यों ने गहरा शोक व्यक्त किया तथा दो मिनट मौन रखकर दिवंगत आत्मा के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की।

हिन्दुस्थान समाचार/राहुल/बलवान

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story