प्रशासनिक परिषद ने जम्मू और श्रीनगर के जीएमसी, एसएसएच के लिए 3-स्तरीय संकाय संरचना को मंजूरी दी

जम्मू, 9 जून (हि.स.)। जम्मू-कश्मीर के माननीय उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की अध्यक्षता में 7 जून 2024 को हुई अपनी बैठक में प्रशासनिक परिषद ने सरकारी मेडिकल कॉलेज/सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, जम्मू और सरकारी मेडिकल कॉलेज/सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, श्रीनगर में जम्मू-कश्मीर के नए सरकारी मेडिकल कॉलेजों की तर्ज पर राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग के मानदंडों के अनुसार 3-स्तरीय संकाय संरचना के कार्यान्वयन को मंजूरी दे दी। बैठक में उपराज्यपाल के सलाहकार राजीव राय भटनागर, मुख्य सचिव अटल डुल्लू और उपराज्यपाल के प्रमुख सचिव मंदीप कुमार भंडारी शामिल हुए।

इस निर्णय में व्याख्याताओं के 287 पदों को सहायक प्रोफेसर में अपग्रेड करना शामिल है। यह चिकित्सा संस्थानों में राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग द्वारा निर्धारित न्यूनतम शिक्षक पात्रता योग्यता मानदंडों के अनुरूप है, जिसका नए जीएमसी के लिए पहले से ही पालन किया जाता है। ये मानदंड मेडिकल कॉलेजों में तीन संकाय रैंक “सहायक प्रोफेसर“, “एसोसिएट प्रोफेसर“ और “प्रोफेसर“ प्रदान करते हैं। चावला समिति ने अन्य सिफारिशों के अलावा, जीएमसी जम्मू और जीएमसी श्रीनगर में व्याख्याताओं के अप्रचलित पदों को समाप्त करने की भी सिफारिश की है।

चूंकि एनएमसी द्वारा किए गए निरीक्षणों के दौरान “हेड काउंट“ करते समय व्याख्याता के पदों की गणना नहीं की जाती है, जो जीएमसी जम्मू/श्रीनगर में पोस्ट ग्रेजुएट सीटों के प्रावधान/वृद्धि पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। इसके परिणामस्वरूप प्रवेश स्तर पर संकाय की दोहरी भर्ती प्रणाली को समाप्त करके एक समान संकाय संरचना के माध्यम से बेहतर कैडर प्रबंधन होगा।

हिन्दुस्थान समाचार/राहुल/बलवान

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story