एनएसएस इकाई ने राष्ट्रीय एकता और सांप्रदायिक सद्भाव कार्यक्रम के तहत दौड़ का आयोजन किया

एनएसएस इकाई ने राष्ट्रीय एकता और सांप्रदायिक सद्भाव कार्यक्रम के तहत दौड़ का आयोजन किया


कठुआ 24 नवंबर (हि.स)। जीडीसी कठुआ की एनएसएस इकाई ने राष्ट्रीय एकता और सांप्रदायिक सद्भाव पर जीडीसी कठुआ में कार्यक्रम का आयोजन किया जो राष्ट्रीय एकता सप्ताह के दौरान आयोजित की जाने वाली गतिविधियों में से एक है।

इस कार्यक्रम में एनएसएस के स्वयंसेवकों और जीडीसी कठुआ के छात्रों ने भाग लिया। इस आयोजन का मकसद छात्रों में राष्ट्रीय एकता और सांप्रदायिक सद्भाव के मूल्यों को विकसित करना था। प्रिंसिपल जीडीसी कठुआ के प्रोफेसर सुमनेश सिंह जसरोटिया ने वरिष्ठ संकाय सदस्यों प्रोफेसर जसविंदर सिंह, प्रोफेसर राकेश जसरोटिया, प्रोफेसर शुब और डॉ कैलाश शर्मा के साथ राष्ट्रीय एकता और सांप्रदायिक सद्भाव दौड़ कार्यक्रम को झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस अवसर पर प्रिंसिपल जीडीसी कठुआ के प्रोफेसर सुमनेश सिंह ने स्वयंसेवकों और प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि छात्र राष्ट्र निर्माता हैं और इस तरह के कार्यक्रमों का हिस्सा बनकर वे भारत के बेहतर भविष्य बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। कार्यक्रम में कॉलेज के चार सौ से अधिक स्वयंसेवकों ने भाग लिया। प्रिंसिपल जीडीसी कठुआ के प्रोफेसर सुमनेश सिंह जसरोटिया ने भी इस सांप्रदायिक सद्भाव कार्यक्रम के आयोजन के लिए एनएसएस प्रोग्राम अधिकारियों और स्वयंसेवकों के प्रयासों की सराहना की और कार्यक्रम अधिकारियों और स्वयंसेवकों से ऐसे अभियान चलाने की अपील की जो छात्रों को एकीकृत करते हैं और उन्हें जाति, पंथ के भेदभाव से दूर रखते हैं। और धर्म और उनमें एकता की भावना पैदा करें। एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी प्रोफेसर मनमोहन सिंह ने भी स्वयंसेवकों और छात्रों को संबोधित किया और उनसे इस अभियान के युवा राजदूत बनने और अपने-अपने इलाकों में भी इस तरह के अभियान आयोजित करने की अपील की।

स्वयंसेवकों ने झंडा दिवस की पूर्व संध्या पर झंडे बांटकर सांप्रदायिक दंगों के पीड़ितों के बच्चों की शिक्षा के लिए फंड भी जुटाया। इस कार्यक्रम का आयोजन प्राचार्य प्रोफेसर सुमनेश के संरक्षण और एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी प्रोफेसर मनमोहन सिंह, प्रोफेसर नेहा बंदराल और डॉ. सुरेश शर्मा की देखरेख में किया गया।

हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story