ऊना जिले में 516 मतदान केंद्र, इनमें से 25 महिला कर्मी संचालित और 5 का जिम्मा संभालेंगे युवा

ऊना, 02 अप्रैल (हि.स.)। ऊना जिले में चुनावों को लेकर 516 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 25 मतदान केंद्र महिला कर्मी संचालित होंगे। इसके अलावा 5 मतदान केंद्रों का जिम्मा युवा कर्मी संभालेंगे। यह जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी उपायुक्त जतिन लाल ने दी। वे मुख्य निर्वाचन अधिकारी मनीष गर्ग द्वारा चुनावों के सुचारू निष्पादन से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा के लिए शिमला से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से ली गई बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को ऊना जिला की संपूर्ण तैयारी तथा चुनावी प्रबंधों से अवगत कराया।

उन्होंने बताया कि जिले में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 5-5 महिला कर्मी संचालित मतदान केंद्र होंगे। इस तरह जिले में कुल 25 महिला कर्मी संचालित मतदान केंद्र होंगे। इसके अलावा हर विधानसभा क्षेत्र में 1 मतदान केंद्र युवा कर्मी संचालित होगा। इस प्रकार जिले में कुल 5 मतदान केंद्र ऐसे होंगे जिनके संचालन का जिम्मा 30 साल से कम आयु के युवा कर्मी संभालेंगे। जिले में कुल 20 आदर्श मतदान केंद्र बनाए जाएंगे, जिनमें विधानसभा वार 4-4 आदर्श मतदान केंद्र होंगे।

इसके अलावा जिले मेें एक इको फ्रेंडली ग्रीन मतदान केंद्र स्थापित किया जाएगा।

4 मई तक जारी रहेगा मतदाता पंजीकरण

बता दें, ऊना जिले में अभी 4 लाख 28 हजार 589 मतदाता पंजीकृत हैं। इनमें 2 लाख 11 हजार 684 महिला मतदाता और 2 लाख 16 हजार 901 पुरुष मतदाता और 4 तीसरे लिंग के मतदाता हैं। अभी 4 मई तक मतदाता पंजीकरण जारी रहेगा। इसलिए मतदाताओं की संख्या में इजाफा संभव है।

302 मतदान केंद्रों पर वेब कास्टिंग प्रस्तावित

जतिन लाल ने बताया कि जिले 516 से 302 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग प्रस्तावित है। इनमें जिले के सभी 51 क्रिटिकल मतदान केंद्रों की वेब कास्टिंग भी सम्मिलित हैं। उन्होंने बताया कि ऊना जिले में लोकसभा और गगरेट तथा कुटलैहड़ में होने वाले विधानसभा उपचुनाव को लेकर सभी आवश्यक प्रबंध कर लिए गए हैं। मतदान केंद्रों में मतदाताओं के लिए सभी जरूरी सुविधाएं का प्रबंध किया गया है।

पीजी डिग्री कॉलेज ऊना में होगी मतगणना

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतगणना के लिए पीजी डिग्री कॉलेज ऊना में व्यवस्था की गई है। लोकसभा की ईवीएम मतगणना के लिए विधानसभा वार 5 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। इसके अतिरिक्त गगरेट और कुटलैहड़ के विधानसभा उपचुनाव के लिए भी अलग से 2 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने डीआईएसई सॉफ्टवेयर में चुनाव कर्मियों का डाटा दर्ज करने के कार्य को गति दी गई है। अब तक करीब 50 फीसदी कार्य पूरा कर लिया गया है। जल्द ही इसे पूरा कर लिया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ सुनील/उज्जवल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story