वैश्विक डाक संघ की 150 वर्ष की यात्रा पर आयोजित होगी पत्र लेखन प्रतियोगिता

धर्मशाला, 13 फरवरी (हि.स.)। वैश्विक डाक संघ (यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन) हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी युवाओं के लिए अंतरराष्ट्रीय पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है। अधीक्षक डाकघर धर्मशाला रविंदर कुमार शर्मा ने बताया कि 9 से 15 वर्ष की आयु वर्ग के विद्यार्थी इस प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए प्रतिभागियों को वैश्विक डाक संघ की 150 वर्ष की यात्रा पर अपनी भावी पीढ़ी के लिए पत्र लिखना है।

यह रहेगी थीम

उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता की थीम होगी ‘150 वर्ष की अपनी यात्रा में, वैश्विक डाक संघ ने आठ पीढ़ियों से अधिक समय से दुनिया भर के लोगों की सेवा की है। तब से दुनिया बहुत बदल गई है। भावी पीढ़ियों को उस दुनिया के बारे में एक पत्र लिखें जैसी आप आशा करते है की उन्हें विरासत में मिले।’ प्रतिभागियों द्वारा अपनी रचनायें पत्र के रूप में प्रस्तुत की जानी चाहिए। उन्होंने बताया कि प्रतिभागियों द्वारा अपनी रचनायें हिंदी अथवा अंग्रेजी भाषा में प्रस्तुत की जा सकती है।

ऐसे लें भाग

उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में भाग लेने के इच्छुक छात्र-छात्राएं अपने स्कूल के माध्यम से अधीक्षक डाकघर, धर्मशाला के कार्यालय अथवा अपने निकटतम डाकघर में संपर्क कर सकते है।

विजेताओं को मिलेंगे नकद पुरस्कार

अधीक्षक डाकघर ने बताया कि राज्य स्तर पर प्रथम पुरस्कार पच्चीस हजार रूपये, द्वितीय पुरस्कार दस हजार व तृतीय पुरस्कार पांच हजार रूपये तय किया गया है। वहीं राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को पच्चास हजार, द्वितीय पुरस्कार के रूप में पच्चीस हजार तथा तृतीय स्थान पर आने वाले को दस हजार रूपये पुरस्कार के रूप में दिए जाएंगे।

अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए जाएगी सर्वश्रेष्ठ रचना

उन्होंने बताया कि पूरे देश से एक श्रेष्ठ प्रविष्टि अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए आधिकारिक भारतीय प्रविष्टि के रूप में अर्हता प्राप्त करेगी। उन्होंने सभी पात्र छात्रों से इस प्रतियोगिता में बढ़ चढ़कर भाग लेने की अपील की।

हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/उज्जवल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story