हिमाचल प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र बुधवार से, राज्यपाल के अभिभाषण से होगी सत्र की शुरूआत

हिमाचल प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र बुधवार से, राज्यपाल के अभिभाषण से होगी सत्र की शुरूआत
हिमाचल प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र बुधवार से, राज्यपाल के अभिभाषण से होगी सत्र की शुरूआत














शिमला, 13 फरवरी (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश की 14वीं विधानसभा का दूसरा बजट सत्र बुधवार से शुरू होगा। सुबह 11 बजे से राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल के अभिभाषण से सत्र का आगाज होगा। राज्यपाल अपने अभिभाषण के दौरान वर्तमान सरकार के एक साल की उपलब्धियों का बखान करेंगे। लोकसभा चुनाव से पहले होने जा रहे इस बजट सत्र के हंगामेदार रहने के आसार हैं। गारंटियों के मुद्दे पर विपक्षी दल भाजपा सतारूढ़ कांग्रेस के खिलाफ आक्रामक तेवर अपनाएगी।

इस बजट सत्र में कुल 13 बैठकें होंगी और यह 29 फरवरी तक चलेगा।

राज्यपाल के अभिभाषण पर 15 व 16 फरवरी को चर्चा होगी। 17 फरवरी को शनिवार के दिन मुख्यमंत्री सुखविन्दर सिंह सुक्खू वित्तीय वर्ष 2024-2025 के लिए बजट अनुमानों को प्रस्तुत करेंगे। यह वर्तमान सरकार का दूसरा बजट सत्र होगा। 19 से 22 फरवरी तक बजट अनुमान वित्तीय वर्ष 2024-2025 पर चर्चा होगी। 26 व 27 फरवरी को बजट अनुमान मांगो पर चर्चा एवं मतदान होगा तथा 29 फरवरी को मांगो पर चर्चा विनियोग विधेयक-पुनः स्थापना, विचार विमर्श एवं पारण होगा। 22 फरवरी व 28 फरवरी के दिन गैर सरकारी कार्य सदस्य दिवस के लिए निर्धारित किए गए हैं। उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री की धर्मपत्नी प्रो0 सिम्मी अग्निहोत्री और पूर्व विधायक दीना नाथ शास्त्री के निधन पर शोकोदगार भी होंगे।

विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानियां के अनुसार इस सत्र में सदस्यों से कुल 785 प्रश्नों की सूचनाएं प्राप्त हुई हैं जिसमें 578 प्रश्न और 207 प्रश्न अतारांकित हैं। इसके अतिरिक्त नियम 61, 62, 63, 67 तथा 324 के तहत अभी तक कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है। जबकि नियम 101 के अन्तर्गत 7 सूचनाएं, नियम 130 के अन्तर्गत 8 सूचनाएं प्राप्त हुई है जिन्हें आगामी कार्रवाई के लिए सरकार को प्रेषित कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि सदस्यों से जो सूचनाएं प्रश्नों के माध्यम से प्राप्त हुई हैं वह मुख्यतः सड़कों की दयनीय स्थिति, स्वीकृत सड़कों की डीपीआर, प्रदेश में महाविद्यालयों, स्कूलों, स्वास्थ्य संस्थानों इत्यादि का उन्नयन एवं विभिन्न विभागों में रिक्त पदों की पदपूर्ति, पर्यटन, उद्यान, पेयजल की आपूर्ति, युवाओं में बढ़ते नशे के प्रयोग की रोकथाम, बढ़ते अपराधिक मामलों व सौर ऊर्जा तथा परिवहन व्यवस्था तथा प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान पर किए गए प्रबन्धों पर आधारित है। इसके अतिरिक्त सदस्यों ने प्रश्नों के माध्यम से अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों से सम्बन्धित मुख्य मुद्दों को भी उजागर किया है।

सर्वदलीय बैठक से नदारद रहे नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर

बजट सत्र के सुचारू संचालन के लिए मंगलवार को विधानसभा परिसर में सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने की। बैठक में संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चैहान, मुख्य संसदीय सचिव मोहनलाल ब्राक्टा, भाजपा विधायक बलबीर वर्मा, निर्दलीय विधायक केएल ठाकुर शामिल हुए। अन्य कार्यक्रम में व्यवस्था के चलते नेता प्रतिपक्ष जय राम ठाकुर बैठक में नहीं आए। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से फोन पर बातचीत के बाद भाजपा विधायक बलबीर वर्मा को इस बैठक में भेजा।

विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि बैठक सौहार्दपूर्ण माहौल में चली। नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर निजी कार्यक्रम में व्यस्तता के चलते बैठक में शामिल नहीं हो सके। उन्होंने कहा कि बैठक में सभी सदस्यों से सदन की कार्यवाही के संचालन के लिए सहयोग मांगा गया है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण के बाद अमूमन सदन की कार्यवाही में शोकोद्गार को शामिल नहीं किया जाता है। सर्वदलीय बैठक में इसे लेकर चर्चा हुई है और अगर सरकार की ओर से अनुमति मिली, तो विधानसभा के बजट सत्र के दौरान यह नई व्यवस्था नजर आ सकती है।

संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चैहान ने नेता प्रतिपक्ष के न आने पर उठाए सवाल

संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने विपक्ष से अनुरोध किया कि वह सदन की कार्यवाही के दौरान सकारात्मक रवैया के साथ आएं। उन्होंने कहा कि सरकार हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार है। सर्वदलीय बैठक में विस्तृत रूप से चर्चा हुई है। उन्होंने जयराम ठाकुर के बैठक में उपस्थित न होने को लेकर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि जयराम ठाकुर को बैठक में पहुंचना चाहिए था. हर्षवर्धन चैहान ने तंज करते हुए कहा कि शायद जयराम ठाकुर को सर्वदलीय बैठक से भी कोई महत्वपूर्ण काम होगा, इसलिए वे इस बैठक में नहीं आए। हर्षवर्धन चैहान ने कहा कि इस बैठक की गरिमा होती है और इस गरिमा को बनाए रखना जरूरी है।

वहीं, भाजपा विधायक बलबीर सिंह वर्मा ने कहा कि प्रतिपक्ष के मुख्य सचेतक सुखराम चैधरी के संबंधियों के घर पर मृत्यु के चलते जयराम ठाकुर इस बैठक में शामिल नहीं हो सके। उन्होंने कहा कि विपक्ष पूरी मजबूती के साथ सदन में आम जनता की आवाज को उठाएगा। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने से पहले कांग्रेस ने जनता को झूठी गारंटी दी थी, इस मुद्दे को लेकर विपक्ष सरकार को घेरेगा।

बजट सत्र को लेकर पुलिस ने किए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र को लेकर शिमला पुलिस ने यातायात एवं सुरक्षा व्यवस्था की तैयारियां चाक चैबंद कर दी हैं। बजट सत्र के दौरान शिमला में चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा रहेगा। सुरक्षा और यातायात की दृष्टि से शिमला में पांच सेक्टर बनाए गए हैं।

एसपी शिमला संजीव गांधी ने बताया कि बजट सत्र को देखते हुए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इसके लिए पुलिस की छह कंपनी तैनात की गई है। पांच सेक्टर्स में पुलिस कर्मी, अराजपत्रित अधिकारी, और सुपरवाइजर्स तैनात कर दिए गए हैं। यातायात सुचारू रूप से चलता रहे इसके ट्रैफिक व्यवस्था को मजबूत किया गया है। वन मिनट ट्रैफिक प्लान को लागू किया जाएगा। कुछ मार्गो को कुछ समय के लिए डायवर्ट किया जा सकता है। पुलिस की तरफ से सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story