भाजप को वोट और कमलेश को शगुन दे ससुराल से विदा करें देहरा वासी : होशियार सिंह

भाजप को वोट और कमलेश को शगुन दे ससुराल से विदा करें देहरा वासी : होशियार सिंह
WhatsApp Channel Join Now
भाजप को वोट और कमलेश को शगुन दे ससुराल से विदा करें देहरा वासी : होशियार सिंह












धर्मशाला, 05 जुलाई (हि.,स.)। मुख्यमंत्री सुक्खू व उनकी धर्मपत्नी कमलेश से किसी सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं है। देहरा की जनता स्वयं जानती है कि उनका बेटा कितना लायक है तभी दो बार पूर्व में अपना आशीर्वाद दिया व तीसरी बार फिर भारी जनसमर्थन और आशीर्वाद दे कर विधानसभा भेज रहे हैं। विवाह के बाद किसी भी महिला का पहला धर्म ससुराल के प्रति होता हैं, परंतु बहन कमलेश रीति-रीवाजों और मान्यताओं को भूल रही हैं।

शुक्रवार को भाजपा प्रत्याशी होशियार सिंह ने चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए यह बातें कही। उन्होंने कहा कि मेरी योग्यता पर प्रश्नचिन्ह लगाने वालों पर उन्ही की पार्टी के 6लोगों ने पार्टी व सरकार छोड़ कर प्रश्नचिन्ह लगा दिया था जो कि किसी भी नेतृत्व के लिए अत्यंत शर्मनाक है। मुख्यमंत्री सुकखु अति अवसरवादी जिन्हे सत्ता का इतना मोह हो गए है कि अपनी पत्नी को भी सहभागी बना लिया। ये तो यही बात हो गई कि ''खुद मियां फ़जीहत दूसरे को नसीहत'' अपना घर संभलता नहीं चले हैं दूसरों को संभालने।

उन्होंने कहा आज एक बार चुनाव से पहले ये पति पत्नी नादौन में हुए कार्यों का ब्यौरा भी देहरा के साथ साँझा करें ताकि यहां कि जनता को भी भरोसा हो कि कांग्रेस सरकार ने विकास का एक पत्थर इन 18 महीनों में रखा है। उन्होंने कहा की हमारे बड़े बजुर्ग ठीक कहा करते थे जिस बेटी का मन ससुराल से ज्यादा मायके के लाभ हानि में रहता है वो मायके का तो कभी भला नहीं करा पाती बल्कि ससुराल का भी सत्यानाश कर देती है। इसलिए यह तय है कि कमलेश के क्लेश से नादौन जी जनता दुखी ही रहेगी।उन्होंने देहरा कि जनता से आह्वान किया कि इस लिए भाजपा के प्रत्याशी को वोट और कमलेश को शगुन का सिक्का देकर विदा करें ताकि वो बार बार अपना हक मांगने यहां न आ सके।

भाजपा प्रत्याशी होशियार सिंह ने कहा कि कांग्रेस के न नेता, नियति न निर्णय लेने की क्षमता है। आज देहरा में कांग्रेस के नेतृत्व को इन्होने परिवारवाद की बलि चढ़ा दिया है। कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि जिस प्रकार झूठी गारंटीयों से प्रदेश को ठगा आज लॉलीपॉप देकर देहरा की जनता को बेवकूफ बनाना चाहते हैं। मुख्यमंत्री का ऐसा कोई भाषण नहीं होता जिसमें वो आर्थिक संकट की बात न करते हो, कोई भी कार्य करने से पहले केंद्र का मुहं न देखते हो, सहायता मिल जाने के बाद भी केंद्र को कोसते न हो। देहरा की जनता जानती है कि ज़ब पैसा केंद्र से आना है तो भाजपा की सरकार में भाजपा के विधायक के हाथों सरलता से आएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story