आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने एनटीटी भर्ती में मांगा 70 फीसदी आरक्षण

WhatsApp Channel Join Now

शिमला, 07 जुलाई (हि.स.)। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने एनटीटी के छह हजार से अधिक पदों की भर्ती में 70 फीसदी आरक्षण देने की प्रदेश सरकार से मांग उठाई है। हिमाचल प्रदेश आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवम सहायिका यूनियन की रविवार को शिमला में आयोजित राज्य स्तरीय बैठक में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से जुड़े विभिन्न मसलों पर मंथन किया गया। यूनियन ने आउटसोर्स आधार एनटीटी भर्ती का विरोध किया है।

यूनियन के प्रदेश प्रभारी जितेंद्र वर्मा ने कहा कि शिक्षा विभाग ने अपने स्तर पर एनटीटी की भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। एनटीटी के 6297 पद आउटसोर्स पर भरे जाने हैं और इसमें आठ हजार रुपये प्रति माह का मानदेय दिया जाएगा। उनका कहना है कि पिछले पचास वार्षों से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सेवाएं देती आ रही हैं। लेकिन राज्य सरकार उनके स्थान पर प्री प्राइमरी एनटीटी के शिक्षकों को भर्ती कर रही है। सरकार ने एनटीटी भर्ती का 30 प्रतिशत कोटा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को देने को कहा है परन्तु आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को यह घाटे का सौदा है।

उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एनटीटी का कार्य पिछले पचास वर्षों से कर रही है, लिहाजा यूनियन मांग करती है कि वरिष्ठता व योग्यता के आधार पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को एनटीटी के पद पर पदोनति देकर रेगुलर किया जाये। उन्होंने यह भी कहा कि एनटीटी भर्ती की जो पालिसी शिक्षा विभाग द्वारा बनाई गयी है इस भर्ती पालिसी से एनटीटी शिक्षकों का भी शोषण हो रहा है व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी परेशानी में डाला जा रहा है।

यूनियन ने शिक्षा विभाग को चेताया कि एनटीटी भर्ती करने से पहले एनटीटी के डिप्लोमे की जाँच करवाए। एनटीटी भर्ती में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 70 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए। उन्होंने कहा कि यूनियन अपनी मांगो को लेकर जल्द मुख्यमंत्री से भी मुलाकात करेगी। अगर बात नही बनी तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाने पर भी विचार किया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story