सीयू के पूर्व कुलपति प्रो. कुलदीप चंद अग्निहोत्री स्वामी सत्यानंद स्टोक्स सम्मान से सम्मानित

सीयू के पूर्व कुलपति प्रो. कुलदीप चंद अग्निहोत्री स्वामी सत्यानंद स्टोक्स सम्मान से सम्मानित


धर्मशाला, 24 नवम्बर (हि.स.)। विशिष्ट विद्वान एवं केंद्रीय विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. कुलदीप चंद अग्निहोत्री को स्वामी सत्यानंद स्टोक्स सम्मान से नवाजा गया है। केंद्रीय विश्वविद्यालय में वीरवार को आयोजित सम्मान समारोह में निर्वासित तिब्बत सरकार के प्रधानमंत्री पेंपा सेरिंग ने प्रो. अग्निहोत्री को इस सम्मान से सम्मानित किया। हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय शिक्षक समिति द्वारा इस सम्मान की पहली बार शुरुआत की गई है।

धौलाधार परिसर में आयोजित समारोह में प्रो. कुलदीप चंद अग्निहोत्री को प्रशस्ति पत्र तथा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर प्रो. कुलदीप चंद अग्निहोत्री ने कहा कि यह सम्मान उन्हें नहीं बल्कि स्वामी सत्यानंद को दिया गया है। मैं तो सिर्फ माध्यम हूं। हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय के तिब्बत अध्ययन केंद्र के सहयोग से तिब्बत सवांद का भी आयोजन हुआ।

निर्वासित तिब्बत सरकार के प्रधानमंत्री पेंपा सेरिंग ने कहा कि भारत हमारी धर्म और संस्कृति के स्रोत हैं। तिब्बत सवांद के दौरान अपने विचार रखते हुए पंेपा सेरिंग ने कहा कि तिब्बती भाषा देवनागरी लिपी में लिखी जाती है। भगवान बुद्ध की जन्मस्थली भारत है। निर्वासित सरकार के पुस्तकालय में भारतीय ज्ञान परम्परा की 13 हजार से अधिक किताबंे हैं।

वहीं सांची यूनिवर्सिटी आफ बुद्धिस्ट स्टडीज के कुलाधिपति प्रो. वेनेरेबल सामदोंग रिंपोचे ने कहा कि धर्म, दर्शन और संस्कृति के उद्गम स्थल एक होते हुए अस्तित्व अलग हो सकता है। धर्म चित्त को साधारण से असाधारण अवस्था में ले जाती है। राजनैतिक और आर्थिक कारण से जो होता है और जिसको हम कन्वर्शन कहते हैं वो कपड़े बदल कर नए कपड़े पहनने जैसा होता है। इसमें धर्म का कोई चिन्ह ही नहीं होता है।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सत प्रकाश बंसल ने कहा कि केंद्रीय विश्वविद्यालय एक अंतराष्ट्रीय बुद्धिस्ट सम्मेलन का आयोजन करने जा रहा है। स्वामी सत्यानंद के बारे में बोलते हुए कुलपति ने कहा कि अभी उनके बारे में सबको जानने की आवश्यकता है। कुलपति ने शिक्षक समिति की इस पहल की सराहना की।

वहीं शिक्षक समिति के सचिव डॉ गौरीशंकर साहू ने स्वामी सत्यानंद के बारे में जानकारी देते हुए इस सम्मान की पृष्ठभूमि के बारे में विस्तार से अपनी बात रखी।

हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story