कैथल:ऑयल मिल मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर सैनी समाज की चेतावनी

कैथल:ऑयल मिल मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर सैनी समाज की चेतावनी
कैथल:ऑयल मिल मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर सैनी समाज की चेतावनी


कैथल:ऑयल मिल मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर सैनी समाज की चेतावनी


कैथल:ऑयल मिल मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर सैनी समाज की चेतावनी


पीड़ितों के पक्ष में सैकड़ों लोग पहुंचे पुलिस थाने

पुलिस को दिया बुधवार तक का समय, उसके बाद लेंगे बड़ा फैसला

कैथल, 10 जून (हि.स.)। कस्बा पूंडरी में आयल मिल के टैंक की सफाई करने उतरे दो मजदूरों की दम घुटने से हुई मौत के मामले में मिल मालिक भाइयों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सोमवार को सैनी समाज के लोग पुलिस थाने पहुंचे। सैनी समाज के सैकड़ों लोगों ने थाने में पहुंचकर जल्द ही दोनों भाइयों को गिरफ्तार न करने पर बड़ा फैसला लेने की चेतावनी दी।

भूप सिंह सैनी की अगुवाई में सैनी समाज के लोगों का कहना था कि तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस दोनों मिल मालिक भाइयों में से किसी को भी गिरफ्तार नहीं कर पाई है। शनिवार को दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के बाद पुलिस ने आगे कोई कदम नहीं उठाया। मृतक के भाई विवेक का कहना था कि मिल मालिक उसके भाई को बचाने की बजाय मौका से भाग गया।

वह चाहता तो उसके भाई को टैंक से निकाल कर बचा सकता था। पूरे प्रकरण में लक्ष्मी ऑयल मिल पूंडरी के मालिक संदीप व रजनीश दोनों भाइयों की लापरवाही के कारण ही दो लोगों की जान चली गई। दोनों भाई अगर चाहते तो उसके भाई की जान बच सकती थी। उसके तीन बच्चे लावारिस हो गए हैं। उन्हें कौन पलेगा। वे लोग किसी भी प्रकार का हंगामा करने के लिए नहीं बल्कि इंसाफ मांगने के लिए थाने में पहुंचे हैं।

अगर बुधवार तक पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार नहीं किया तो सैनी समाज कोई कठोर फैसला लेने पर मजबूर हो जाएगा। सैनी समाज के शिष्ठमंडल में विवेक सैनी, भूप सैनी, जय भगवान सैनी, पवन सैनी, रोशन सैनी,चन्दन सैनी, पाला सैनी, कृष्ण सैनी, रघुबीर सैनी, नीरज सैनी, इस्मा सैनी, कुलदीप सैनी, कृष्ण सैनी शामिल थे।

सबूत इकट्ठा करने में लगी है पुलिस:सुरेश कुमार

पूंडरी चौकी इंचार्ज सुरेश कुमार ने लोगों की बात सुनी और उन्हें आश्वासन दिया कि जल्द ही दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस सबूत एकत्र करने में जुटी हुई है। पुलिस ने मिल के अंदर सीसीटीवी कैमरा की डीवीआर कब्जे में ले रखी है। जिसे एक्सपर्ट के पास जांच के लिए भेजा गया है। डीवीआर की जांच में पूरे मामले का खुलासा हो जाएगा। पुलिस को सबूत के साथ गिरफ्तारी के लिए कुछ समय चाहिए, ताकि केस मजबूत हो सके।

हिन्दुस्थान समाचार/नरेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story