वर्कशॉप बंद करने के निर्णय के खिलाफ सडक़ों पर उतरे रोडवेज कर्मचारी

वर्कशॉप बंद करने के निर्णय के खिलाफ सडक़ों पर उतरे रोडवेज कर्मचारी
वर्कशॉप बंद करने के निर्णय के खिलाफ सडक़ों पर उतरे रोडवेज कर्मचारी


वर्कशॉप बंद करने के निर्णय के खिलाफ सडक़ों पर उतरे रोडवेज कर्मचारी


हिसार व करनाल सेंट्रल वर्कशॉप बंद की गई तो होगा बड़ा आंदोलन : सांझा मोर्चा

फतेहाबाद, 4 अप्रैल (हि.स.)। सेंट्रल वर्कशॉप हिसार व करनाल बंद करने के निर्णय के खिलाफ हरियाणा रोडवेज कर्मचारी सांझा मोर्चा के आह्वान पर रोडवेज कर्मचारियों ने गुरुवार को फतेहाबाद में रोष प्रदर्शन किया। यहां सांझा मोर्चा नेता व डिपो प्रधान शिवकुमार श्योराण, संदीप जांडली, विजय नागपुर, सतेंद्र, अशोक सिहाग व रामस्वरूप टांडी की अध्यक्षता में गेट मीटिंग की गई।

मंच का संचालन सूबे सिंह धनाणा ने किया। इसके बाद कर्मचारियों ने महाप्रबंधक के माध्यम से महानिदेशक को ज्ञापन भेजा गया। कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए सांझा मोर्चा नेता शिवकुमार श्योराण, सुभाष बिश्नोई ने कहा करनाल व हिसार सेंट्रल वर्कशॉप में ईंजन मुरम्मत कार्य, पम्प कार्य व टायर रिसोल कार्य की समीक्षा बारे एक कमेटी का गठन किया हैं। सांझा मोर्चे ने सूत्रों से पता चला हैं कि गठन कमेटी कुछ सीमित समय को आधार मानकर दोनों वर्कशॉपो को बंद करने की सिफारिश करने जा रही हैं, जिसका सांझा मोर्चा विभाग हित मे विरोध करता हैं।

क्योंकि दोनों वर्कशॉपों में कार्य करने की कुशलता व गुणवत्ता बहुत अच्छी हैं और प्राइवेट कम्पनी से कही बेहतर हैं। इसके अलावा एचआरईसी गुरुग्राम से नई 500 बसों की बॉडी निर्मित न करवा करके किसी अन्य प्राइवेट कम्पनी में बसों की बॉडी निर्मित करवाने की योजना बनाई जा रही हैं। रोडवेज विभाग द्वारा पिछले समय में 1000 बसों की बॉडी अन्य कम्पनी से बनवाई थी। अगर एचआरईसी के मुकाबले इन प्राइवेट कम्पनी से निर्मित बॉडी की तुलना की जाए तो एचआरईसी से निर्मित बॉडी कही बेहतर हैं जो परिणाम हम सबके सामने हैं। उन्होंने कहा केंद्रीय कर्मशाला बंद कर निजी कम्पनियों से कार्य करवाने व बसों की बाडी प्राइवेट कंपनियों से बनवाने पर विभाग को आर्थिक घाटा होने, बसों का कार्य तसल्ली बक्स नहीं होने व निजी कम्पनियों को फायदा होने की ही सम्भावना है। इसके अलावा विभाग में स्टाफ की भारी कमी हो जाएगी।

हरियाणा रोडवेज कर्मचारी सांझा मोर्चा के निर्णय अनुसार आज डिपो के महाप्रबंधक के माध्यम से ज्ञापन भेजकर मांग की गई विभाग हित में करनाल, हिसार में इंजन, पंप मुरम्मत कार्य व टायर रोसोल का कार्य गुणवता व कार्य की कुशलता को देखते हुए पूर्व की भांति करवाया जाए। एचआरईसी गुरुग्राम में बस बॉडी निर्मित कार्य की गुणवत्ता प्राइवेट कम्पनी से कही बेहतर हैं, इसलिए नई बसों की बॉडी निर्मित कार्य एचआरईसी गुरुग्राम से ही करवाई जाए। इस मौके पर कर्मचारी नेता नरेश कुमार, सुबेसिंह धनाणा, विनोद यादव, अनिल भाटिया, राजकुमार बिघड़, विरेंद्र कुलेरी, इंद्रपाल सहारण, रामस्वरूप आदि नेताओं ने सरकार की निजीकरण व कर्मचारी विरोधी नीतियों की जमकर आलोचना की।

हिन्दुस्थान समाचार/अर्जुन

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story