हिसार : एचएयू में विभिन्न पदों पर 19 कर्मचारियों की हुई पदोन्नति

हिसार : एचएयू में विभिन्न पदों पर 19 कर्मचारियों की हुई पदोन्नति
हिसार : एचएयू में विभिन्न पदों पर 19 कर्मचारियों की हुई पदोन्नति


हिसार, 11 जून (हि.स.)। हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बीआर कम्बोज ने मंगलवार को 19 कर्मचारियों को विभिन्न पदों पर पदोन्नति के आदेश जारी किए हैं। पदोन्नत कर्मचारियों में एक निजी सहायक को निजी सचिव, 11 लिपिकों को सहायक, दो जूनियर स्केल स्टेनोग्राफर को सीनियर स्केल स्टेनोग्राफर तथा पांच मैसेंजर को दफ्तरी के पद पर पदोन्नत किया गया है। पदोन्नत किए गए सभी कर्मचारियों ने मंगलवार को कुलपति प्रो. बीआर कम्बोज से मुलाकात कर उनका धन्यवाद किया।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने निजी सहायक के पद पर कार्यरत वीना कुमारी को निजी सचिव बनाया है। जारी आदेशानुसार लिपिक से सहायक के पद पर पदोन्नत किए गए कर्मचारियों में मुनीश मोर, ललित यादव, सुमित, अजय कुमार, अमन कुमार, ज्योतिशील, अंकित, मोनिका, सोनू कुमार, सुरेन्द्र तथा अमन कुमार शामिल हैं। उमंग व पारूल को पदोन्नति देकर सीनियर स्केल स्टेनोग्राफर बनाया गया है। इसी प्रकार मैसेंजर से दफ्तरी के पद पर पदोन्नत किए गए कर्मचारियों में रामसरन, राजबाला, कप्तान, राजबीर सिंह व नरेन्द्र राज शामिल हैं।

एचएयू प्रशासन के इस कदम की प्रत्येक गैर-शिक्षक कर्मचारी ने प्रशंसा की। पदोन्नत कर्मचारियों ने विश्वास दिलाया कि वे अपनी पूरी निष्ठा, लग्न व ईमानदारी के साथ अपने नए पद के कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे। उन्होंने बताया कि समयानुसार पदोन्नति होने से कर्मचारियों में खुशी की लहर है। पदोन्नति के उपरान्त सभी कर्मचारी और अधिक उत्साह के साथ विश्वविद्यालय में अपनी सेवाएं दे सकेंगे।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने पिछले एक वर्ष में 80 से अधिक कर्मचारियों की पदोन्नति के आदेश जारी किए हैं। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बीआर कम्बोज ने सभी पदोन्नत कर्मचारियों को बधाई दी। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. बलवान सिंह मंडल, एसवीसी कपिल अरोड़ा, सहायक कुलसचिव ताराचंद व प्रशासनिक एवं लेखा अधिकारी रमेश चन्द्र उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/राजेश्वर/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story