किसानों के दिल्ली कूच के बाद बहादुरगढ़ में सुरक्षाबल सतर्क

किसानों के दिल्ली कूच के बाद बहादुरगढ़ में सुरक्षाबल सतर्क
किसानों के दिल्ली कूच के बाद बहादुरगढ़ में सुरक्षाबल सतर्क


- दिल्ली जाने वाला नेशनल हाईवे टीकरी बॉर्डर पर किया गया बंद

-राहगीरों, रोगियों को करना पड़ रहा आने-जाने में परेशानी का सामना

झज्जर,13 फरवरी (हि.स.)। पंजाब से किसानों के दिल्ली कूच को लेकर झज्जर जिला पुलिस अलर्ट मोड. पर है। बहादुरगढ़ में नेशनल हाईवे नंबर-9 पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। टीकरी बॉर्डर से दिल्ली जाने वाला मार्ग भी मंगलवार को बंद कर दिया गया। इससे दिल्ली जाने-आने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। निजी वाहन चालक ग्रामीण क्षेत्र के रास्तों का प्रयोग करने पर मजबूर हो रहे हैं।

आंदोलनकारी किसानों के आने की संभावना को देखते हुए बहादुरगढ़ में रोहतक दिल्ली रोड पर सेक्टर-9 मोड़, टीकरी बॉर्डर, जाखोदा के पास किसान चौक और रोहद टोल बैरियर पर बड़ी संख्या में अर्द्धसैनिक बलों के जवान तैनात किए गए हैं। पुलिस की कमान झज्जर के एसपी अर्पित जैन संभाले हैं। सेक्टर 9 मोड़ पर दिल्ली जाने वाली सड़क को बंद किया गया है। यहां बड़े-बड़े पत्थर, लोहे के कंटेनर, कांटेदार तार और दूसरे बैरिकेड लगाए गए हैं।

बहादुरगढ़ में सेक्टर-9 मोड़ पर बेरिकेडिंग करने के बाद लोगों को आने-जाने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। सेक्टर-9 मोड़ पर स्थित जीवन ज्योति अस्पताल बुजुर्ग बीमार महिला को ले जा रहे शहर के दयानंद नगर निवासी परिजनों को दिक्कत हुई। करीब 69 साल की बुजुर्ग को उनके पति एमपी सिंह पैदल ही लेकर निकले। उन्होंने कहा कि यदि रास्ते में उन्हें कुछ हो जाए तो कौन जिम्मेदार होगा। काफी अन्य मरीजों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस अस्पताल के प्रबंधक आशीष भारद्वाज ने कहा कि समय से अस्पताल न पहुंच पाने के कारण कुछ मरीजों की जान भी संकट में पड़ सकती है। आंदोलनकारी किसानों को रोगियों की समस्या का भी ध्यान रखना चाहिए। दिल्ली जाने वाले यात्रियों को टीकरी बॉर्डर बंद होने के कारण परेशानी हो रही है। लोग कई सौ मीटर तक पैदल चलने को मजबूर हैं। बहादुरगढ़ के उद्योगपतियों ने आंदोलनकारी किसानों से टीकरी बॉर्डर पर डेरा न डालने की अपील की है।

जिला पुलिस अधीक्षक अर्पित जैन ने बताया कि किसानों को रोकने के लिए पुलिस के सख्त इंतजाम किए हैं। पुलिस और पैरामिलेट्री की 11 कंपनियां तैनात की गई हैं। जिले में सात अस्थाई डिटेंशन सेंटर बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था किसी को खराब नहीं करने देंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/शील

/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story